नोट नहीं बदलने से परेशान किसान ने की आत्महत्या

नोट नहीं बदलने से परेशान किसान ने की आत्महत्याफोटो साभार: गूगल इमेज

रायगढ़ (भाषा)। छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में पांच सौ और एक हजार रुपए के नोटों के चलन से बाहर होने के बाद कथित रुप से बैंक से नोट नहीं बदल पाने से परेशान किसान ने आत्महत्या कर ली है।

जिले के पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर दूर सरिया थाना क्षेत्र के महाराजपुर गांव में शनिवार को देर रात रवि प्रधान (45 वर्ष) ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

प्रधान की पत्नी पुष्पलता के अनुसार तमिलनाडु में फंसे दोनों बेटों की आर्थिक मदद के लिए प्रधान पिछले दो दिनों से स्टेट बैंक की सरिया शाखा में तीन हजार रुपये के पांच सौ के नोट बदलवाने के लिए लाईन में लग जाता था। लेकिन शाम तक उसका नंबर नहीं आ पाने के कारण नोट नहीं बदलने से वह परेशान था।

उन्होंने बताया कि उसके दोनों बेटे सुनील (22) और अनिल (20) तमिलनाडु के एक सूत कारखाने में काम करते हैं। तीन दिनों पहले उसके बड़े बेटे सुनील का फोन आया था कि ठेकेदार संतोष उनकी मजदूरी समेत सारे पैसे लेकर भाग गया है। उन्हें पैसों की जरुरत है, वो घर लौटना चाहते हैं। तुरंत पैसे भेज दें। प्रधान अपने बेटों को पैसे नहीं भेज पाने के कारण परेशान था।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि रवि प्रधान की तबीयत खराब थी और उसका इलाज चल रहा था। घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है और अभी तक की पुलिस जांच में नोट बदली नहीं होने के कारण खुदकुशी की बात सामने नहीं आई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Share it
Top