अब जिला जेल में बंद कैदी कर सकेंगे अपने परिजनों से टेलीफोन पर बात 

अब जिला जेल में बंद कैदी कर सकेंगे अपने परिजनों से टेलीफोन पर बात कानपुर जिला जेल में बंद कैदी अब जल्द ही जेल से अपने परिजनों से टेलीफोन पर बात कर सकेंगे।

कानपुर (भाषा)। कानपुर जिला जेल में बंद कैदी अब जल्द ही जेल से अपने परिजनों से टेलीफोन पर बात कर सकेंगे। इसके लिये जिला जेल में दो पीसीओ खोले गये हैं।

कानपुर जेल अधीक्षक विपिन मिश्र के अनुसार उत्तर प्रदेश सरकार ने कुछ महीने पहले प्रदेश के सभी जिलों में पीसीओ लगाने के आदेश दिये थे जिसके तहत कानपुर जेल में भी दो पीसीओ लगाये गये थे। लेकिन कैदियों की बातचीत शुरु नहीं हो सकी थी क्योंकि जेल विभाग द्वारा कैदियों से उनके परिजनों के लैंडलाइन का पोस्टपेड नंबर मांगा गया था।

उन्होंने बताया कि एक-दो कैदियों को छोड़कर कोई भी कैदी पोस्टपेड लैंडलाइन नंबर जेल प्रशासन को उपलब्ध नहीं करा सका था क्योंकि अधिकतर कैदियों के घरों में प्रीपेड मोबाइल फोन ही उपलब्ध थे। इस कारण बातचीत की प्रक्रिया शुरु नहीं हो पाई थी।

मिश्र ने बताया कि यह बात जब शासन को बताई गयी तो शासन ने नियमों में ढील दी और कैदियों के परिजनों के प्रीपेड फोन नंबर मांगे गये। अब कैदियों के प्रीपेड नंबर मांगे गये हैं और उन्होंने अपने घरवालों के प्रीपेड नंबर उपलब्ध करा दिये हैं। अब इन प्रीपेड फोन नंबरों की जांच करने को कहा गया है। जांच के बाद सही नंबर पाये जाने पर कैदियों की बात उन नंबरों पर कराई जाएगी। इन नंबरों के लिये एक रजिस्टर बनाया गया है। उन्होंने बताया कि कैदी केवल उन्हीं नंबरों पर बात कर पायेंगे जो नंबर उन्होंने जेल प्रशासन को दिए हैं और जिनकी जांच हो चुकी है।

Share it
Top