पाकिस्तान-अमेरिका के बीच हुई कश्मीर, नियंत्रण रेखा पर तनाव पर चर्चा 

पाकिस्तान-अमेरिका के बीच हुई कश्मीर, नियंत्रण रेखा पर तनाव पर चर्चा पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विशेष सहायक (एसएपीएम) सैयद फातमी और विदेश उपमंत्री एंटनी ब्लिंकेन।

वॉशिंगटन (भाषा)। पाकिस्तान और अमेरिका ने कश्मीर और भारत-पाक सीमा पर बढ़ते तनाव समेत क्षेत्रीय हालात पर चर्चा की और वॉशिंगटन ने बातचीत के जरिए मसलों का हल निकालने का अनुरोध किया।

पाकिस्तानी उच्चायोग की ओर से जारी वक्तव्य में बताया गया कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विशेष सहायक (एसएपीएम) सैयद फातमी और विदेश उपमंत्री एंटनी ब्लिंकेन के बीच यहां हुई बैठक में इन मुद्दे पर चर्चा हुई।

चर्चा में कहा गया, ‘‘बैठक के दौरान नियंत्रण रेखा पर बढ़ता तनाव और कामकाजी सीमा समेत क्षेत्रीय हालात पर चर्चा हुई। एसएपीएम ने उपमंत्री को बताया कि हाल के हफ्तों में भारत की ओर से संघर्ष विराम का बार-बार उल्लंघन किया गया और नियंत्रण रेखा के पार आम नागरिकों को निशाना बनाया गया।'' फातमी ने आरोप लगाया कि कश्मीर में भारत ‘मानवाधिकारों का उल्लंघन' कर रहा है और उसके मुताबिक इसके परिणामस्वरुप महिलाओं और बच्चों समेत सैकड़ों की संख्या में आम नागरिक जख्मी हुए हैं और उनकी मौत हुई है।

बातचीत में कहा गया, ‘‘नियंत्रण रेखा पर बढ़ते तनाव पर उपमंत्री ब्लिंकेन ने चिंता जताई और दक्षिण एशिया में तनाव कम करने तथा क्षेत्र की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच संवाद और सहयोग कायम करने का अमेरिका का अनुरोध दोहराया।'' बैठक के दौरान फातमी ने जोर देकर कहा कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान में शांति बहाल करने और क्षेत्र में अमन कायम करने की खातिर भारत-पाक संबंधों को बेहतर बनाने के लिए नए डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के साथ सहयोग करने के लिए तैयार है। फातमी ने उम्मीद जताई कि वर्तमान में जारी सत्तांतरण की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद दोनों पक्ष द्विपक्षीय मसलों पर नियमित चर्चा शुरु कर देंगे।

पाकिस्तानी उच्चायोग की ओर से जारी किए गए वक्तव्य में कहा गया, ‘‘शांति, सुरक्षा, आतंकनिरोध, रक्षा और आर्थिक सहयोग के क्षेत्रों में हासिल अनेक उपलब्धियों पर दोनों पक्षों ने संतोष जाहिर किया। इस पर भी सहमति बनी कि पाकिस्तान-अमेरिका संबंध क्षेत्रीय तथा वैश्विक शांति और सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण हैं और अगले प्रशासन के तहत भी इसमें मजबूती आनी चाहिए।''

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता मार्क टोनर ने बैठक के बारे में कहा, ‘‘उन्होंने द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर बात की जिसमें क्षेत्रीय स्थिरता और आतंकनिरोधी सहयोग शामिल है।'' फातमी ने मीडिया को बताया कि वर्तमान अमेरिकी प्रशासन के साथ बातचीत के लिए और उन अधिकारियों से मुलाकात करने के लिए वह अमेरिका आए हुए हैं जो नए प्रशासन में शामिल हो सकते हैं।

फातमी ने कहा कि पाकिस्तान नए अमेरिकी प्रशासन के साथ मिलकर काम करने का इंतजार कर रहा है और चाहता है कि भविष्य में द्विपक्षीय संबंधों में और अधिक मजबूती आए।

Share it
Top