पाकिस्तान ने भगत सिंह को उनकी 86वीं पुण्यतिथि पर याद किया 

पाकिस्तान ने भगत सिंह को उनकी 86वीं पुण्यतिथि पर याद किया भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन ने लाहौर के फव्वारा चौक पर कल मुख्य कार्यक्रम का आयोजन किया था।

लाहौर (भाषा)। पाकिस्तान में नागरिक समाज के सदस्यों और शिक्षाविदों ने भारतीय स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव की 86वीं पुण्यतिथि के मौके पर मांग उठाई है कि इन तीनों की अन्यायपूर्ण हत्याओं के लिए ब्रिटेन की महारानी को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए।

भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन ने लाहौर के फव्वारा चौक पर कल मुख्य कार्यक्रम का आयोजन किया था। फव्वारा चौक पर ही तीनों स्वतंत्रता सेनानियों को 23 मार्च 1931 को फांसी पर लटकाया गया था। कड़ी सुरक्षा के बीच लोगों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया और ब्रितानी महारानी से आग्रह किया कि वे शादमान चौक का दौरा करें और इन तीनों की हत्या के लिए लोगों से सार्वजनिक तौर पर माफी मांगे।

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

एक प्रस्ताव को स्वीकार करते हुये कार्यकर्ताओं ने मांग की कि महारानी को अन्यायपूर्ण हत्याओं के लिए आर्थिक क्षतिपूर्ति देने के अलावा भारत और पाकिस्तान तथा स्वतंत्रता सेनानियों के परिवारों से माफी भी मांगनी चाहिये। इस मौके पर भगत सिंह के परिवार के कुछ सदस्यों ने कनाडा और भारत से टेलीफोन पर भाषण भी दिया।

भगत सिंह फाउंडेशन पाकिस्तान के अध्यक्ष अब्दुल्ला मलिक ने कहा, ‘‘हम शहीद भगत सिंह और उनके साथियों के साहस और बलिदान को नहीं भूलेंगे। सिंह की आवाज प्रत्येक साम्राज्यवादी शासन के खिलाफ गूंजती रहेगी।'' उन्होंने स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान ना करने और शादमान चौक का नाम बदलकर शहीद भगत सिंह चौक ना करने के लिए पंजाब सरकार की आलोचना की।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top