पार्टी कार्यालय बनाने को लेकर जमीन खरीदने के लिए दो साल पहले किया गया था फैसला: भाजपा

पार्टी कार्यालय बनाने को लेकर जमीन खरीदने के लिए दो साल पहले किया गया था फैसला: भाजपाBJP के राष्ट्रीय सचिव सिद्धार्थ नाथ सिंह।

कोलकाता (भाषा)। नोटबंदी से पहले बड़ी मात्रा में जमीन खरीदने के पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आरोपों को खारिज करते हुए BJP ने आज कहा कि पार्टी ने देश के हर जिले में पार्टी कार्यालय बनाने के लिए जमीन खरीदने का फैसला दो साल पहले किया था। BJP के राष्ट्रीय सचिव सिद्धार्थ नाथ सिंह ने ममता को नोटबंदी के चलते परेशानी होने के बारे में बनाई जारी धारणाओं को रोकने का अनुरोध किया।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के चलते परेशानी होने की धारणा ममता को नहीं बनानी चाहिए। जब समूचे देश ने नोटबंदी का समर्थन किया है ऐसे में वह अपने निहित स्वार्थ के लिए इसका विरोध कर रही हैं। उन्हें झूठ बोलना और झूठे बयान देना बंद करना चाहिए। सिंह ने भारी मात्रा में जमीन खरीद के ममता के आरोप को बेबुनियाद करार दिया और कहा कि मुख्यमंत्री को पहले अपनी खुद की पार्टी के सहकर्मियों की संपत्ति देखनी चाहिए जिन्होंने चिट फंड घोटालों के जरिए अकूत संपत्ति जमा की है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास हर चीज के लिए उपयुक्त कागजात हैं। दूसरी बात यह कि जमीन खरीदने का फैसला पार्टी नेतृत्व ने दो साल पहले किया था। तब हमने फैसला किया था कि हमें देश के हर जिले में पार्टी कार्यालय की जरुरत है। इसलिए पार्टी कार्यालय बनाने के लिए आपके पास जमीन होनी चाहिए।'' ममता ने BJP की कथित जमीन खरीद की उच्चतम न्यायालय के एक न्यायाधीश से जांच कराने की मांग की है। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने 23 नवंबर को दिल्ली में धरना भी दिया था और इस मुद्दे पर राष्ट्रपति से भी मिली थी।

Share it
Top