पटना: नाव हादसे में मरने वालों की संख्या हुई 24

पटना: नाव हादसे में मरने वालों की संख्या हुई 24पटना के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, रविवार सुबह भी NDRF और SDRF की टीम लापता लोगों की तलाश कर रही है।

पटना (आईएएनएस/भाषा)। बिहार की राजधानी पटना में शनिवार शाम गंगा नदी के एनआईटी घाट के पास हुई नाव दुर्घटना में मृतकों की संख्या बढ़कर 24 तक पहुंच गई है। अभी भी लापता लोगों की तलाश की जा रही है। पटना के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, रविवार सुबह भी NDRF और SDRF की टीम लापता लोगों की तलाश कर रही है। मामले की FIR सारण जिले के सोनपुर थाना में दर्ज कर ली गई है।

डूबी नाव को सुबह नदी से बाहर निकाल लिया गया है। इस नाव में दो शव फंसे हुए थे, जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है। शनिवार देर रात तक 21 शवों को नदी से बाहर निकाला गया था। अभी भी 15 से ज्यादा लोग लापता बताए जा रहे हैं।

हमेशा की तरह इस साल भी बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम द्वारा मकर संक्रांति के मौके पर गंगा के सबलपुर दियारा क्षेत्र में पतंग उत्सव का आयोजन किया गया था। इस दौरान दियारा से लोगों को लेकर लौट रही एक नाव गंगा नदी में पलट गई। कहा जा रहा है कि इस नाव पर क्षमता से अधिक लोग बैठे थे।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर दुख प्रकट करते हुए जांच के आदेश दिए हैं और मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ने आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रतय अमृत, केंद्रीय प्रक्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक शालीन, पटना के जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल को बचाव कार्य में युद्ध स्तर पर चलाए जाने तथा नाव हादसे में बचाए गए लोगों के इलाज के लिए पटना मेडिकल कालेज अस्पताल में समुचित व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया है।

बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविन्द ने नौका दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। राजभवन से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, राज्यपाल ने इस हृदय विदारक दुर्घटना में कई लोगों के निधन पर अपनी गहरी शोक-संवेदना व्यक्त करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

राज्यपाल ने दिवंगत आत्माओं को शान्ति तथा उनके पारिवारिक जनों को धैय धारण की क्षमता प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

इस नौका हादसे के बाद प्रदेश में सत्ताधारी पार्टी जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह के आवास पर मकर संक्रांति के अवसर पर आज आयोजित होने वाले ‘दही-चूडा' कार्यक्रम और राजद प्रमुख लालू प्रसाद के आवास पर आयोजित होने वाले भोज को रद्द कर दिया गया है।

मोदी ने दो-दो लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पटना नौका त्रासदी में मारे गए लोगों के परिजन को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपए दिए जाने को आज मंजूरी दी। प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि गंभीर रुप से घायल हुए लोगों को 50-50 हजार रुपए दिए जाएंगे।

हादसे में मारे गए लोगों के प्रति कल रात शोक व्यक्त करे हुए प्रधानमंत्री ने आज पटना में होने वाला अपना कार्यक्रम स्थगित कर दिया है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने कल रात ट्वीट किया, ‘‘प्रधानमंत्री बिहार में नौका त्रासदी में लोगों के मारे जाने पर शोक व्यक्त करते हैं। वह शोकसंतप्त परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट करते हैं।''

साथ ही प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि मोदी को पटना में महात्मा गांधी सेतु के पुनर्विकास कार्य के आरंभ के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम को आज वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संबोधित करना था, लेकिन त्रासदी के मद्देनजर इसे स्थगित कर दिया गया है। पटना में गंगा में एक नौका के डूब जाने से नाबालिगों समेत कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई है। यह आशंका है कि नौका क्षमता से अधिक सवारियां होने के कारण डूबी।

Share it
Top