इस बार जनता ने ठानी, मेले के नाम पर नहीं होगी मनमानी

इस बार जनता ने ठानी, मेले के नाम पर नहीं होगी मनमानीकार्तिक मेले काे पेपर मिल कॉलोनी की जगह मनकामेश्वर घाट पर लगाने की मांग।

रिपोर्टर- सुप्रिया श्रीवास्तव

लखनऊ। कार्तिक मेले को लगने में महीने भर से भी कम समय बचा हुआ है। वहीं मेले के आयोजन स्थल को लेकर असमंजस्य की स्थिति बनी हुई है। कई वर्षों से डालीगंज सड़क के किनारे लगने वाले इस मेले में भीड़ काफी होती है। जिसकी वजह से आम लोगों के साथ-साथ वहां पर स्थित कार्यालयों के कर्मचारियों को भी दिक्कत का सामना करना पड़ता है।

डालीगंज सड़क से नबीउल्लाह रोड पर लगने वाले कार्तिक मेले की वजह से उसके आस-पास के कार्यालयों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। जिसकी वजह से मेला स्थल में बदलाव का प्रस्ताव प्रशासन के सामने रखा गया है। मगर अभी तक मेले की जगह सुनिश्चित नहीं हो सकी है। महीने भर चलने वाले कार्तिक मेले की वजह से उस क्षेत्र में जाम की गंभीर स्थिति बन जाती है। ऐसे में पुलिस को भी भीड़ को संभालने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है।

इंदिरा गांधी नक्षत्रशाला के राज्य परियोजना समंव्यक अधिकारी अनिल यादव बताते हैं कि कार्तिक मेले में आम दिनों से ज्यादा भीड़ इधर होती है। जिसकी वजह से नक्षत्रशाला में आने वाले लोगों को असुविधा होती है। स्कूल के टूर यहां आए दिन आते रहते हैं। उस समय मेले के कारण काफी दिक्कत होती है। टीचरों के लिए बच्चों की भीड़ को व्यवस्थित करना और कभी-कभी तो मेले की भीड़ में बच्चों को ढूंढ़ने में दिक्कत हो जाती है। यह एक रिहायशी इलाका है। यहां पर इतने भव्य मेले के आयोजन से आस-पास के लोगों को भी दिक्कत झेलनी पड़ती है। मेले की भीड़ में चोरी-चकारी का भी डर ज्यादा है। हर साल इस तरह की समस्या का सामना इधर काम करने वाले कर्मचारियों को करना पड़ता है। कार्तिक मेले में ज्यादा भीड़ बाहर से आने वाले लोगों की होती है। जिससे इस तरह के मेले का आयोजन खुली और बड़ी जगह पर होना ज्यादा सुविधाजनक हो सकता है। पूरे महीने तक चलने वाले इस मेले में ट्रैफिक को लेकर भी शहर के लोगों को काफी असुविधा झेलनी पड़ती है।

मेले के चलते मरीजों को भी होती है दिक्कत

डालीगंज के आस-पास सरकारी और गैर सरकारी अस्पताल भी स्थित है। जिसमें मेले के समय में लगने वाले जाम के कारण मरीजों को अस्पताल तक पहुंचने में भी घण्टों लग जाते हैं। ऐसे में मेले स्थल को मनकामेश्वर घाट पर स्थानांतरित करने का एसएसपी, नगर निगम, एलडीए, सिंचाई विभाग ने प्रशासन के सामने प्रस्ताव रखा हैं। डीएम ने अगले हफ़्ते एक बैठक करके उचित निष्कर्ष निकालने की उम्मीद दिलाई है।

Share it
Top