पुराने नोट बदलने बैंक पहुंचीं प्रधानमंत्री की 97 वर्षीय मां

पुराने नोट बदलने बैंक पहुंचीं प्रधानमंत्री की 97 वर्षीय मांप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 97 वर्षीय मां हीराबा। 

अहमदाबाद (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 97 वर्षीय मां हीराबा ने मंगलवार को गांधीनगर में अपने गाँव के बैंक में जा कर अन्य लोगों की तरह ही अपने पुराने नोट बदलवाए। गौरतलब है कि 500 रुपये और 1000 रुपये के नोट प्रधानमंत्री द्वारा अमान्य घोषित किए जाने के बाद पुराने नोटों को बदला जा रहा है।

रायसान गाँव में स्थित ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में हीराबा व्हीलचेयर पर पहुंचीं। वह आज सुबह बैंक पहुंचीं और उनके साथ उनके संबंधी थे। उन्होंने 4,500 रुपये मूल्य के पुराने नोट बदल कर इतने ही मूल्य के नए नोट लिए। पांच सौ रुपये के नोट ले कर बैंक आईं हीराबा ने आवश्यक प्रक्रिया पूरी करते हुए फॉर्म भरा, उस पर अंगूठे का निशान लगाया और अपने रुपये बदले।

हीराबा ने 2000 रुपये का एक नया नोट लेने के बाद उसे सामने खड़े उन मीडिया कर्मियों को भी दिखाया जो, संभवत: उनकी प्रतिक्रिया लेना चाहते थे। गांधीनगर के बाहरी हिस्से में स्थित रायसान में हीराबा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के छोटे भाई पंकज मोदी के साथ रहती हैं। प्रधानमंत्री इस साल 17 सितंबर को अपने 66वें जन्मदिन पर उनका आशीर्वाद लेने के लिए अपनी मां के पास गए थे।

हीराबा सादगीपूर्ण जीवन जीती हैं और सार्वजनिक परिवहन से यात्रा करती हैं। पिछली बार वह नियमित जांच के लिए गांधीनगर के सरकारी अस्पताल ऑटो रिक्शा से आई थीं। मोदी ने काले धन पर रोक लगाने के लिए आठ नवंबर को 500 रुपये और 1000 रुपये के नोटों का चलन बंद करने का ऐलान किया था। इस घोषणा के बाद 500 रुपये और 1000 रुपये के अमान्य हो चुके नोटों को बदलवाने के लिए देश भर में बैंकों के आगे लोगों की भारी भीड़ एकत्र है।

Share it
Top