भारत में लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए WGF, प्रथम होंगे भागीदार

भारत में लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए WGF, प्रथम होंगे भागीदारWGF ने बताया कि वह साझेदारी के माध्यम से प्रथम के सेकंड चान्स प्रोग्राम’’ को आगे बढ़ाने में मदद करेगा।

न्यूयॉर्क (भाषा)। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों से पढ़ कर निकले छात्रों द्वारा शुरु किए गए एक अमेरिकी लाभकारी संगठन ने भारत के पांच राज्यों में वंचित समुदायों की बीच लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए भारत के सबसे बड़े शैक्षिक गैर सरकारी संगठन प्रथम के साथ हाथ मिलाया है।

व्हील्स ग्लोबल फाउंडेशन (WGF) एक गैर लाभकारी संगठन है जो जल, स्वास्थ्य, शिक्षा, उर्जा, जीवन शैली तथा निरंतरता के छह क्षेत्रों में वैश्विक चुनौतियों का प्रौद्योगिकी आधारित समाधान निकालने तथा ग्रामीण समुदायों के उत्थान के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करने पर ध्यान केंद्रित करता है।

WGF ने एक बयान में बताया कि वह साझेदारी के माध्यम से प्रथम के सेकंड चान्स प्रोग्राम'' को आगे बढ़ाने में मदद करेगा। यह प्रोग्राम 14 साल तक की उम्र की, बीच में ही स्कूल छोड़ देने वाली छात्राओं को उनकी माध्यमिक स्कूल की पढ़ाई पूरी करने में और डिजिटल अध्ययन संसाधनों के प्रावधानों के माध्यम से 10वीं कक्षा का डिप्लोमा हासिल करने में मदद करता है।

बीच में ही स्कूल की पढ़ाई छोड़ देने वाली छात्राओं की मदद के लिए 'सेकंड चान्स प्रोग्राम' को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से प्रथम के साथ साझेदारी के बारे में WGF के अध्यक्ष हितेन घोष ने बताया ‘डिजिटल माध्यम से पढ़ाने पर युवा अपनी गति से पढ़ पाते हैं जो कि जरूरी है।' प्रथम वर्तमान में भारत के नौ राज्यों (आंध्रप्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, गुजरात, मध्यप्रदेश, राजस्थान और तेलंगाना) में 200 शिक्षण स्थलों से जुड़े 33 केंद्रों का संचालन कर रहा है जिसका उद्देश्य बीच में ही स्कूल की पढ़ाई छोड़ देने वाली छात्राओं की मदद करना है। नई भागीदारी इनमें से पांच राज्यों में करीब 1,700 छात्रों को डिजिटल माध्यम से पढ़ने में मददगार होगी।

Share it
Share it
Share it
Top