श्रीलंकाई नौसेना की गोली से मछुआरे की मौत, मछुआरों का प्रदर्शन कहा, श्रीलंकाई नौसेना कर्मी को गिरफ्तार करो

श्रीलंकाई नौसेना की गोली से मछुआरे की मौत, मछुआरों का प्रदर्शन कहा, श्रीलंकाई नौसेना कर्मी को गिरफ्तार करोप्रतीकात्मक फोटो साभार : इंटरनेट

रामेश्वरम (तमिलनाडु) (भाषा)। श्रीलंकाई नौसैनिकों द्वारा एक भारतीय मछुआरे को कथिततौर पर मारे जाने को लेकर इस द्वीप के थानगचिमदाम पर सैकड़ों मछुआरों ने आज विरोध-प्रदर्शन किया।

श्रीलंकाई नौसैनिकों ने कल एक भारतीय मछुआरे (22 वर्ष) को कथिततौर पर उस समय गोली मारी थी जब वह कच्चाथीवू से कुछ दूरी पर एक मशीनीकृत नौका से मछली पकड़ रहा था।

रामेश्वरम मछुआरा संघ के अध्यक्ष एस अमीरात ने बताया कि एक केंद्रीय मंत्री के आने और ऐसी घटना दोबारा नहीं होने का आश्वासन मिलने तक प्रदर्शनकारी मछुआरों ने पीड़ित मछुआरे का शव लेने से इंकार कर दिया। उन्होंने बताया कि मछुआरों ने इस घटना में शामिल श्रीलंकाई नौसेना कर्मी की गिरफ्तारी की भी मांग की।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मछुआरों ने आरोप लगाया कि पाक जलडमरुमध्य में मछली पकड़ने के मुद्दे पर श्रीलंका और भारतीय अधिकारियों के बीच कोई उचित तालमेल नहीं है। उन्होंने श्रीलंकाई नौसेना द्वारा गिरफ्तार किए गए सभी भारतीय मछुआरों को रिहा करने और जब्त की गई नौका वापस करने की भी मांग की। स्थिति पर नजर रखने के लिए द्वीप पर पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है।

मत्स्य पालन विभाग के सहायक निदेशक कुलनचिनथान ने कहा था कि पीड़ित ब्रिडगो के गर्दन में गोली लगी थी और घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई थी। उन्होंने बताया था कि गोलीबारी में एक अन्य मछुआरा श्रवणन (22 वर्ष) घायल हो गया था जबकि घटनास्थल पर मौजूद अन्य लोग बाल-बाल बच गए थे और समुद्र तट पर लौट आए थे।

Share it
Top