जेल जाना मंजूर पर एक बूंद पानी बाहर नहीं जाने देंगे: कैप्टन

जेल जाना मंजूर पर एक बूंद पानी बाहर नहीं जाने देंगे: कैप्टनकैप्टन अमरिंदर सिंह।

जालंधर (भाषा)। प्रदेश में पानी की समस्या के लिए मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की सरकारों को जिम्मेदार बताते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने रविवार को यहां कहा कि वह अदालती आदेश का उल्लंघन कर जेल जाने के लिए तैयार हैं लेकिन किसी भी सूरत में वह एक बूंद पानी प्रदेश से बाहर नहीं जाने देंगे।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह ने रविवार को यहां पूर्व सैनिकों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “मैं पंजाब के पानी की सुरक्षा के लिए उसे बचाने के लिए किसी भी आदेश का उल्लंघन करुंगा। मैं सलाखों के पीछे जाने के लिए तैयार हूं लेकिन किसी सभी सरूत में एक बूंद पानी पंजाब के बाहर नहीं जाने दूंगा।”

कैप्टन ने आरोप लगाया, “सतलुज यमुना लिंक नहर के लिए प्रकाश सिंह बादल और उनकी सरकार ही जिम्मेदार है इसलिए मैं आवाम से अपील करता हूं कि न केवल पानी बल्कि प्रदेश की सुरक्षा के लिए काग्रेस को दो तिहाई बहुमत से विजयी बनायें ताकि राज्य के हित में कड़े निर्णय लेने में सफलता मिले।”

उन्होंने कहा, “राज्य के पुनर्गठन में पंजाब के साथ अन्याय हुआ था। राज्य को साठ फीसदी जमीन तो मिल गयी लेकिन पानी केवल 40 फीसदी मिला क्योंकि यमुना नदी का पानी हरियाणा के साथ नहीं बांटा गया था। अगर लिंक नहर का निर्माण होता है तो दक्षिणी पंजाब का करीब दस लाख हेक्टेयर जमीन सूखी रह जाएगी जिसे रोकने के लिए अगली कांग्रेस सरकार विधानसभा में सख्त कानून पारित कराएगी।”

Share it
Share it
Share it
Top