सर्दी के मौसम में शिमला का मौसम गर्म

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   7 Dec 2016 1:45 PM GMT

सर्दी के मौसम में शिमला का मौसम गर्मशिमला का रेलवा स्टेशन।

शिमला (आईएएनएस)| शिमला का मौसम मंगलवार रात व बुधवार सुबह चंडीगढ़, अमृतसर से ज्यादा गर्म रहा। शिमला का न्यूनतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और धर्मशाला का 10.4 डिग्री तथा नाहन का 10.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

उत्तर भारत के दिल्ली, चंडीगढ़, अमृतसर, लुधियाना, हिसार और करनाल जैसे स्थान मंगलवार रात व बुधवार सुबह शिमला, धर्मशाला और पालमपुर जैसे पहाड़ी पर्यटन स्थलों की तुलना में ठंडे रहे। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, "लंबे धूपभरे दिन के कारण तापमान में वृद्धि के चलते बुधवार को हिमाचल प्रदेश का न्यूनतम तापमान मौसम के सामान्य तापमान से दो-तीन डिग्री अधिक दर्ज किया गया।"

शिमला का न्यूनतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और धर्मशाला का 10.4 डिग्री तथा नाहन का 10.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

हरियाणा में नारनौल 5.5 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान के साथ क्षत्र में सबसे ठंडा रहा, जबकि पंजाब के अमृतसर और लुधियाना का न्यूनतम तापमान क्रमश: 7.7 डिग्री और 7.8 डिग्री सेल्सियस रहा।

चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान 8.8 डिग्री सेल्सियस, जबकि हरियाणा के अंबाला में 10.3 डिग्री, करनाल में 9.5 डिग्री सेल्सियस और हिसार में 6.3 डिग्री सेल्सियस रहा।

हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति जिले में स्थित केलांग शून्य से 1.3 डिग्री कम न्यूनतम तापमान के साथ क्षेत्र में सबसे ठंडा रहा, जबकि मनाली में न्यूनतम तापमान 2.8 डिग्री सेल्सियस रहा।

दिल्ली से शिमला आए एक पर्यटक सिद्धार्थ पांडे ने कहा, "मैदानों की कंपकंपाती सर्दी से शिमला में काफी राहत है।" दिल्ली में बुधवार सुबह घना कोहरा छाया रहा। राजधानी का न्यूनतम तापमान 11.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

शिमला मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि हिमाचल प्रदेश के पर्वतीय इलाकों में धूप खिली होने के कारण मौसम ज्यादा सुहावना है। उन्होंने कहा, "शुष्क मौसम और कोहरा नहीं होने के कारण न्यूनतम और अधिकतम तापमान ज्यादा है।"

आर्द्रता का स्तर 70 प्रतिशत से अधिक होने पर कोहरा होता है। मैदानी इलाकों में इन दिनों आद्र्रता करीब 100 प्रतिशत है, जबकि पहाड़ी इलाकों में यह 30-40 प्रतिशत है। सिंह ने कहा कि साप्ताहांत तक मौसम शुष्क बना रहेगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top