शिवाजी स्मारक, मुंबई, पुणे मेट्रो की आधारशिला रखने के लिए आज महाराष्ट्र आयेंगे प्रधानमंत्री मोदी 

शिवाजी स्मारक, मुंबई, पुणे मेट्रो की आधारशिला रखने के लिए आज महाराष्ट्र आयेंगे प्रधानमंत्री मोदी नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

मुंबई (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को एकदिवसीय दौरे पर महाराष्ट्र आयेंगे जहां वह मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज के भव्य स्मारक और मुंबई और पुणे में मेट्रो रेल परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे।

मोदी सुबह साढ़े 11 बजे महानगर पहुंचेंगे और निकटवर्ती रायगढ़ जिले के एमआईडीसी पातालगंगा रवाना होंगे जहां वह नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटीज मैनेजमेंट के नवनिर्मित परिसर का उद्घाटन करेंगे। प्रधानमंत्री इसके बाद राजभवन पहुंचेंगे। फिर, वह शिवाजी मेमोरियल समारोह के लिए गिरगांव चौपाटी रवाना होंगे। वह मुंबई तट के करीब अरब सागर में उस स्थल पर जाएंगे जहां राज्य सरकार छत्रपति शिवाजी महाराज के विशाल स्मारक बनाने की योजना बना रही है।

प्रधानमंत्री का दौरा राजनीतिक रुप से महत्वपूर्ण है क्योंकि बृहन्मुंबई महानगर पालिका का घमासान मुकाबला कुछ महीने बाद होने वाला है। शिवाजी स्मारक की मुख्य विशेषताओं में मराठा शासक की 192 मीटर लंबी प्रतिमा होगी। यह राजभवन से 1.5 किलोमीटर दूर बनायी जाएगी। इस पर कुल 3600 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हाल में कहा कि ‘शिव स्मारक' देश ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में सबसे उंचा स्मारक होगा। उन्होंने इसे संभव बनाने के लिए मोदी का शुक्रिया अदा किया। बाद में मोदी उपनगर बांद्रा में मुंबई महानगरीय क्षेत्र विकास प्राधिकरण (एमएमआरडीए) मैदान में जनसभा को संबोधित करेंगे। वह दो मेट्रो रेल परियोजनाओं, एलिवेटेड रेल कॉरिडोर परियोजना और मुंबई ट्रांस हार्बर लिंक (एमटीएचएल) की आधारशिला रखेंगे।

सत्तारुढ़ BJP की सहयोगी शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के एमएमआरडीए कार्यक्रम में मोदी के साथ मंच साझा करने की उम्मीद है।

इसके बाद प्रधानमंत्री पुणे के लिए रवाना होंगे जहां वह कृषि महाविद्यालय मैदान में पुणे मेट्रो रेल परियोजना की आधारशिला रखेंगे। वह इस कार्यक्रम में राकांपा नेता शरद पवार के साथ मंच साझा करेंगे। मछुआरे और पर्यावरणविद स्मारक परियोजना का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि इससे समुद्री जीवन और अरब सागर की पारिस्थितिकी पर असर पड़ेगा।

एमएमआडीए कार्यक्रम के लिए सरकार ने शाही परिवार के सदस्यों और शिवाजी इतिहासकारों समेत 3000 से अधिक वीवीआईपी और गणमान्य हस्तियों को आमंत्रित किया है। महाराष्ट्र में अक्तूबर 2014 में सत्ता में आने के बाद से BJP शिवाजी के मामले पर अपना एकाधिकार समझने वाली शिवसेना से यह एकाधिकार छीनने की कोशिश कर रही है जिसे लेकर दोनों दलों में आपसी कलह की स्थिति पैदा हो गया गई है।

वर्ष 2014 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले BJP ने चुनावी लाभ के लिए छत्रपति शिवाजी के नाम का प्रयोग किया था। सरकार और BJP सभी जिलों के महत्वपूर्ण स्थानों पर होर्डिंग लगाकर और प्रिंट, टीवी और सोशल मीडिया पर प्रचार के जरिए इस समारोह को सफल बनाने की कोशिश कर रही है।

एक अधिकारी ने कहा कि मुंबई तट के निकट ‘जलपूजन और भूमिपूजन' स्थल पर हुवरक्राफ्ट में मोदी के साथ रहने वाली हस्तियों में राज्यपाल सी विद्यासागर राव, मुख्यमंत्री फडणवीस, शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, राकांपा के सतारा से सांसद उदयनराजे भोसले और भाजपा के कोल्हापुर से राज्यसभा सांसद संभाजी राजे भोसले शामिल होंगे।

Share it
Share it
Share it
Top