केरल में नोट बंदी के कारण बुजुर्ग ने की आत्महत्या

केरल में नोट बंदी के कारण बुजुर्ग ने की आत्महत्यापैसे नहीं निकाल पाने के डर से केरल में एक बुजुर्ग व्यक्ति ने फांसी लगा कर खुदकुशी ली।

कोट्टाय (भाषा)। सहकारी बैंक में जमा किए पैसे नहीं निकाल पाने के डर से केरल में एक बुजुर्ग व्यक्ति ने कथित तौर पर फांसी लगा कर खुदकुशी ली जबकि एक अन्य बुजुर्ग व्यक्ति की मौत बैंक की कतार में ही हो गई।

पुलिस ने बताया कि कोट्टायम जिले की पांबा घाटी के चेरुविल्लाइल के रहनेवाले 73 वर्षीय ओमानकुट्टन पिल्लई ने अपने बेडरुम में सोमवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पिल्लई ने नोटबंदी से पहले सहकारी बैंक में पांच लाख रुपये जमा किए थे और उसके बाद काफी डरे हुए थे कि वह अपना पैसा नहीं निकाल पाएंगे।

एक अन्य घटना में 68 वर्षीय बुजुर्ग चंद्रशेखरन की मौत कोल्लम जिले में एक बैंक के लाइन में खड़े रहने के दौरान हो गई। पुलिस ने बताया कि BSNL के पूर्व कर्मचारी दूसरी बार बैंक जाने के बाद स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर की नलीला शाखा की कतार में खड़े थे। बुजुर्ग सुबह में भी बैंक गए थे, लेकिन लंबी लाइन देखने के बाद वह वहां से वापस आ गए। लंच के बाद दोबारा पैसे निकालने के लिए बैंक गए।

बैंक में जब वह अपना टोकन ले रहे थे तभी वह बेहोश होकर गिर पड़े। उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी जिंदगी बचाई नहीं जा सकी। इससे पहले भी स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर की शाखा में 11 नवंबर को एक बुजुर्ग की मौत कतार में हो गई थी, जबकि एक अन्य की मौत बडे नोट जमा करने के दौरान फॉर्म भरते समय हो गई थी।

Share it
Top