भारत को द्विपक्षीय समझौते का प्रस्ताव दे सकता है ट्रंप प्रशासन

भारत को द्विपक्षीय समझौते का प्रस्ताव दे सकता है ट्रंप प्रशासनडोनाल्ड ट्रंप

वाशिंगटन (भाषा)। डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन भारत को द्विपक्षीय समझौते का प्रस्ताव दे सकता है जो दोनों देशों के लिए फायदे का सौदा होगा।

सूत्रों ने बताया कि नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बहुपक्षीय व्यापारिक समझौतों में विश्वास नहीं करते और इनके खिलाफ हैं। सूत्रों ने कहा कि उनका प्रशासन भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापारिक समझौते में विश्वास रखता है और यह दोनों देशों के लिए फायदेमंद साबित होगा। इस तरह के पहले समझौते का प्रस्ताव अमेरिका के करीबी सहयोगी ब्रिटेन को दिया जा सकता है। इसके बाद ट्रंप प्रशासन इसी तरह का समझौता भारत के साथ भी कर सकता है। यह घटनाक्रम ऐसे समय हुआ है जब कुछ घंटे बाद ट्रंप देश के 45वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेंगे।

व्हाइट हाउस के नवनिर्वाचित प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने संवाददाताओं से कहा, “मुझे लगता है कि व्यापार के बारे में राष्ट्रपति का संदेश बिलकुल स्पष्ट है। वह अमेरिकी कामगारों और अमेरिकी उत्पादन के लिए लड़ेंगे।” उन्होंने आगे कहा, “वह द्विपक्षीय समझौतों के बारे में बात करते हैं लेकिन वह यह सुनिश्चित करेंगे कि जो भी समझौता वह करें, उसमें भी वह अमेरिकी कामगारों, अमेरिकी उत्पादन, अमेरिकी सेवाओं और अमेरिका को सबसे पहले रखेंगे।”

Share it
Top