आतंकवाद और राष्ट्रहित पर कोई समझौता नहीं: निर्मल

आतंकवाद और राष्ट्रहित पर कोई समझौता नहीं: निर्मलजम्मू कश्मीर के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह।

जालंधर (भाषा)। राष्ट्रतिहों पर किसी प्रकार का समझौता नहीं करने की बात दोहराते हुए जम्मू कश्मीर के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने कहा है कि अलगाववादियों के सहयोग से पाकिस्तान जम्मू कश्मीर को भारत से अलग करने और प्रदेश में अस्थिरता फैलाने का प्रयास कर रहा है जो कभी सफल नहीं होगा और प्रदेश की आवाम इस ‘नापाक कोशिश' का जमकर विरोध कर रही है।

आतंकवाद प्रभावितों की सहायता के लिए आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने रविवार को जालंधर पहुंचे जम्मू कश्मीर के सिंह ने कहा, ‘‘जम्मू कश्मीर में अलगाववादियों के सहयोग से पाकिस्तान न केवल अस्थिरता पैदा करने की कोशिश कर रहा है बल्कि भारतवर्ष से इसे अलग करने का भी नापाक प्रयास कर रहा है।'' सिंह ने कहा, ‘‘सुरक्षाबलों के साथ-साथ जम्मू कश्मीर की आवाम ने भी अलगाववादियों और पाक की इस नापाक कोशिश को असफल कर दिया है और हमेशा करते रहेंगे। जम्मू कश्मीर लगातार अलगाववाद और आतंकवाद से संघर्ष कर रहा है। पड़ोसी की इस नापाक हरकत को विफल करने के लिए पूरे मुल्क के लोग न केवल अपना काम कर रहे हैं, बल्कि बलिदान भी दे रहे हैं।''

उन्होंने कहा, ‘‘प्रदेश की समस्या को निपटाने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों के लोग (सुरक्षाबल) वहां की आवाम के साथ काम रहे हैं, ऐसे में कोई नापाक हरकत कैसे सफल हो सकती है।'' निर्मल ने कहा, ‘‘आतंकवाद और राष्ट्रहित पर कोई समझौता नहीं होगा और हाल ही में राज्य के दौरे पर आये सर्वदलीय शिष्टमंडल ने भी यह सख्त संदेश दिया है।''

जम्मू कश्मीर के उपमुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘अलगाववाद, आतंकवाद अथवा उग्रवाद पर कभी कोई समझौता नहीं करेंगे। हम सब इसके खिलाफ हैं और इन सभी मसलों पर हम सबको एकजुटता दिखानी होगी। जैसा मैंने पहले ही कहा है कि सर्वदलीय शिष्टमंडल ने भी ऐसा ही कर उन लोगों को एक सख्त संदेश दिया है।''

निर्मल ने कहा, ‘‘आतंकवाद आज एक वैश्विक खतरा बन चुका है। भारत में खास तौर से जम्मू कश्मीर में आतंकवाद को प्रोत्साहन और चिनगारी देने वाले पाकिस्तान की हालत देखिये, वह स्वयं आतंकवाद की आग की तपिश में झुलस रहा है। आतंकवाद ने भस्मासुर की तरह पड़ोसी मुल्क के अस्तित्व पर ही प्रश्नचिह्न लगा दिया है।'' उन्होंने यह भी कहा, ‘‘आतंकवाद और अलगाववाद पर किसी भी दल को कभी भी राजनीति नहीं करनी चाहिए। देशहित में इसके खिलाफ सभी दलों को एकजुटता दिखानी होगी तभी हम इस चुनौती का सामना ठीक तरीके से कर पायेंगे।''

उन्होंने कहा, ‘‘आतंकवाद और पाक की नापाक हरकतों को विफल करने वाली सेना और सुरक्षाबलों की कुर्बानियों को देखते हुए सभी राजनीतिक दलों को यह संकल्प लेने की जरुरत है कि इसका खात्मा पूरी तरह कर देंगे क्योंकि प्रदेश में जो कुर्बानियां हो रही हैं, वे पूरे देश के लोगों की हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए हमें भी राजनीति से उपर उठकर और एकजुट होकर इन चुनौतियों का मुकाबला करना चाहिए।''

गठबंधन में मतभेद और केंद्र के हस्तक्षेप की चर्चाओं के बारे में पूछने निर्मल ने कहा, ‘‘न तो गठबंधन में किसी प्रकार का मतभेद है और न ही कामकाज में केंद्र सरकार का कोई हस्तक्षेप है। राज्य सरकार बिना किसी हस्तक्षेप के अपना काम कर रही है।''

Share it
Top