हज सब्सिडी के मुद्दे पर उच्च स्तरीय समिति करेगी विचार: नकवी 

हज सब्सिडी के मुद्दे पर उच्च स्तरीय समिति करेगी विचार: नकवी मुख्तार अब्बास नकवी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली (भाषा)। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार ने 2012 के उच्चतम न्यायालय के आदेश के आलोक में हज सब्सिडी के मुद्दे पर विचार करने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है। शीर्ष अदालत ने अपने आदेश में तीर्थयात्रियों को हज सब्सिडी को धीरे-धीरे कम करने और 2022 तक समाप्त करने की बात कही थी।

नकवी ने यहां एक समारोह से इतर संवाददाताओं से कहा कि समिति द्वारा यह आकलन करने की संभावना है कि अगर कोई सब्सिडी नहीं दी जाती है तब क्या साऊदी अरब की यात्रा करने वाले तीर्थयात्री कम भुगतान करते हैं या बराबर भुगतान करते हैं। अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा, “हज सब्सिडी के मुद्दों और उससे जुड़े सवाल समय-समय पर उठाए जाते रहे हैं। हमने सब्सिडी से जुड़े विभिन्न आयामाें पर विस्तृत अध्ययन करने के लिए उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है।” उन्होंने कहा कि समिति अपना काम कर रही है और विभिन्न पक्षों के साथ चर्चा कर रही है और इस बारे में जल्द ही अपनी सिफारिशें पेश करेगी। नकवी ने कहा कि हमने समिति को अध्ययन करने की खुली छूट दी है। लेकिन इस बारे में विचार करना है कि क्या सब्सिडी के अभाव में हाजी कम भगतान करके यात्रा करते या समान भुगतान करते हैं। उल्लेखनीय है कि सऊदी अरब ने भारत के वार्षिक हज कोटे में 34,500 की वृद्धि कर दी है जिसके बाद अब यह संख्या 1.70 लाख हो गई है।

केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इसकी जानकारी देते हुए कहा था कि “सऊदी अरब ने भारत के वार्षिक हज कोटे में 34,500 की वृद्धि कर दी है।” सऊदी अरब के जेद्दा में नकवी ने सऊदी अरब के हज एवं उमरा मंत्री डॉ. मुहम्मद सालेह बिन ताहेर बेन्तेन के साथ हज 2017 के सम्बन्ध में द्विपक्षीय समझैते पर हस्ताक्षर किया था।

भारत और सऊदी अरब वैश्विक शांति के आदर्शों को साझा करते हैं: रक्षा मंत्री

हज कोटे में वृद्धि के समझौते पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए नकवी ने कहा था कि भारत और सऊदी अरब वैश्विक शांति, समृद्धि के आदर्शों को साझा करते हैं। दोनों देशों के बीच मजबूत सांस्कृतिक, आर्थिक, राजनीतिक सम्बन्ध हैं जो दोनों देशों के नेताओं और वरिष्ठ अधिकारियों के दौरों से और मजबूत हुए हैं। नकवी ने कहा था कि पिछले साल अप्रैल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सऊदी अरब की यात्रा से दोनों देशों के आपसी संबंधों को नई ऊर्जा मिली है। हज कोटे में वृद्धि के समझौते पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि भारत और सऊदी अरब वैश्विक शांति, समृद्धि के आदर्शों को साझा करते हैं। दोनों देशों के बीच मजबूत सांस्कृतिक, आर्थिक, राजनीतिक सम्बन्ध हैं जो दोनों देशों के नेताओं और वरिष्ठ अधिकारियों के दौरों से और मजबूत हुए हैं। नकवी ने कहा था कि पिछले साल अप्रैल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सऊदी अरब की यात्रा से दोनों देशों के आपसी संबंधों को नई ऊर्जा मिली है।

Share it
Share it
Share it
Top