ऊंची वृद्धि दर बनाए रखने के लिए और अधिक निवेश की जरुरत: मनमोहन सिंह

ऊंची वृद्धि दर बनाए रखने के लिए और अधिक निवेश की जरुरत: मनमोहन सिंहमनमोहन सिंह , पूर्व प्रधानमंत्री। फोटो साभार: इंटरनेट

नई दिल्ली (भाषा)। पूर्व प्रधानमंत्री व देश में आर्थिक सुधारों के अगुवा मनमोहन सिंह ने शनिवार को कहा कि आर्थिक वृद्धि दर को 7-7.5 प्रतिशत पर बनाए रखने के लिए विशेषकर बुनियादी ढांचे में निवेश बढ़ाने और विदेश व्यापार में नई जान फूंकने की जरुरत है।

मनमोहन सिंह ने शनिवार को यहां उद्योग मंडल पीएचडी चैंबर्स ऑफ कामर्स के सालाना सत्र को संबोधित करते हुये कहा कि आर्थिक नीतियां इस तरह से बनाई जानी चाहिए जिसमें सार्वजनिक वित्तपोषण और वृद्धि प्रक्रिया के बीच बेहतर संतुलना बिठाया गया हो।

उन्होंने कहा, ‘इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए समावेशी विकास को लोक वित्तपोषण, वित्तीय स्थिरता, रोजगार सृजन, आर्थिक वृद्धि और पर्यावरण संरक्षण से जोड़े जाने की जरुरत है। 'उल्लेखनीय है कि सिंह की अगुवाई वाली संप्रग सरकार के बाद 2014 में सत्ता में आई मोदी सरकार देश को दुनिया की सबसे तेजी से बढती अर्थव्यवस्था बनाने की बात कर रही है।

मनमोहन ने कहा, ‘हालांकि भारत इस समय 7-7.5 प्रतिशत सालाना की दर से वृद्धि कर रहा है लेकिन वृद्धि प्रक्रिया में स्थिरता के लिए निवेश दर में उल्लेखनीय बढ़ोतरी की जरुरत है विशेषकर नये ढांचागत क्षेत्रों में। इसके साथ ही हमारे अंतरराष्ट्रीय व्यापार क्षेत्र विशेषकर निर्यात में नई जान फूंकनी होगी। 'उन्होंने कहा कि भारत 1991 के आर्थिक सुधारों के दौर से सतत विकास के युग में जा रहा है।

Share it
Top