नौकरियों के मामले में ट्रम्प के पास देने को कुछ नहीं: ओबामा

नौकरियों के मामले में ट्रम्प के पास देने को कुछ नहीं: ओबामाबराक ओबामा, राष्ट्रपति, अमेरिका

वाशिंगटन (भाषा)। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प पर निशाना साधते हुए कहा है कि ट्रम्प के पास नौकरियों के मामले में देने के लिए कुछ भी नहीं है। वह सिर्फ मौजूदा स्थिति को भयावह ही बता सकते हैं।

ओबामा ने कल न्यू हैंपशायर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘उनके पास नौकरियों के क्षेत्र में देने के लिए कुछ भी ठोस नहीं है।'' न्यू हैंपशायर चुनावी समीकरणों के लिहाज से अचानक एक अहम राज्य बनकर उभरा है, जिसके कारण डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के प्रचार अभियान को उनका प्रचार करने के लिए ओबामा को उतारना पडा।

ओबामा ने श्रोताओं की तालियों की गडगडाहट के बीच कहा, ‘‘इस चुनाव में इस अर्थव्यवस्था के बारे में ज्यादा बात नहीं हुई है। क्या आप जानते हैं, ऐसा क्यों हुआ? क्योंकि हमने 73 माह की अवधि में नौकरियों का सृजन किया है। वेतन बढ़ रहे हैं। पिछले ही सप्ताह बेरोजगारी की दर 4.9 प्रतिशत थी, यह लगभग नौ साल में सबसे निचले स्तर के करीब है।''

निवर्तमान होने जा रहे राष्ट्रपति ओबामा ने कहा, ‘‘इसलिए डोनाल्ड ट्रम्प या तो तथ्यों को नजरअंदाज कर देते हैं या फिर उन्हें नकार देते हैं। इसलिए वह कहते हैं कि यह भयावह है। भयावह?'' उन्होंने कहा, ‘‘क्या आप जानते हैं, कि ऑटो उद्योग के लिए रीयल एस्टेट कारोबारी ट्रम्प का विचार क्या है? उन्होंने सुझाव दिया है कि मिशिगन को अपनी ऑटो नौकरियां उन राज्यों में भेज देनी चाहिए, जो कर्मचारियों को कम वेतन देते हैं।''

ओबामा ने कहा, ‘‘मिशिगन के कर्मचारी जब परेशान होंगे तो उनके पास इसके अलावा कोई रास्ता नहीं बचेगा कि वे नौकरियां वापस पाने के लिए कम वेतन स्वीकार कर लें।'' उन्होंने कहा, ‘‘हिलेरी ने दूसरे विश्वयुद्ध के बाद से नई नौकरियों में अब तक के सबसे बडे निवेश का प्रस्ताव सामने रखा है। उनके पास उत्पादन बढाने, लोगों के वेतन बढ़ाने, कॉलेज कर्ज में दबे छात्रों की मदद के लिए योजनाएं हैं। इसलिए उन्हें अमेरिका की अगली राष्ट्रपति बनना चाहिए।''

Share it
Top