केंद्रीय मंत्री विजय गोयल के ‘दिल्ली बचाओ’ अभियान से राज्य इकाई नाराज

केंद्रीय मंत्री विजय गोयल के ‘दिल्ली बचाओ’ अभियान से राज्य इकाई नाराजकेंद्रीय मंत्री विजय गोयल

नई दिल्ली (भाषा)। केंद्रीय मंत्री विजय गोयल की, ‘दिल्ली बचाओ' अभियान की आज से शुरुआत करने की घोषणा से BJP की दिल्ली इकाई के कुछ नेता नाराज हैं। दरअसल आज ही के दिन पार्टी की शहर इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी का जन्मदिन है।

दिल्ली BJP के एक पदाधिकारी ने कहा, ‘‘गोयल राज्य इकाई में अपना आधिपत्य दर्शाने की कोशिश कर रहे हैं और वह दिल्ली के मामलों में अपना प्रभुत्व दिखाने के लिए तिवारी के जन्मदिन पर एक समानान्तर कार्यक्रम आयोजित करने की कोशिश कर रहे हैं।'' पदाधिकारी ने कहा कि उन्होंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से इस बारे में शिकायत की है। नेताओं के एक समूह ने आरोप लगाया है कि गोयल राज्य नेतृत्व के प्रभाव को ‘‘कमजोर'' करने की कोशिश कर रहे हैं।

दिल्ली इकाई के पदाधिकारी गोयल की खासतौर पर ‘दिल्ली बचाओ' आंदोलन संबंधी घोषणा से खफा है क्योंकि उन्होंने शहर इकाई को भरोसे में नहीं लिया। गोयल की ‘दिल्ली बचाओ' मुहिम केजरीवाल सरकार की कथित ‘उपेक्षा एवं उदासीनता' के कारण शहर की ‘खराब' स्थिति के खिलाफ अशोक रोड स्थित उनके आवास से शुरु की जानी है।

उनके नजदीकी पार्टी नेताओं एवं कर्मियों से उसी समय एकत्र होने के लिए कहा गया है जब पंत मार्ग पर दिल्ली भाजपा कार्यालय में मनोज तिवारी का जन्मदिन मनाने के लिए कार्यक्रम आरंभ होना है।

दिल्ली BJP के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘इस कार्यक्रम और इसके आयोजन के समय के पीछे तर्क क्या है? क्या यह ताकत का प्रदर्शन नहीं है? क्या यह आंतरिक कलह का संकेत नहीं है?'' इस संबंध में बात करने के लिए गोयल से संपर्क नहीं हो सका।

कुछ पार्टी नेताओं ने गोयल पर एमसीडी चुनाव की तैयारियों में स्वयं को शामिल करने और अपने वफादारों को टिकट देने का ‘‘वादा करने'' का भी आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा, ‘‘हाल में मुखमेलपुर गांव में आयोजित कार्यकारी समिति की बैठक में उन्होंने अपने लोगों ने खुलकर कहा कि वे उसका अनुसरण करें और वे अप्रैल में होने वाले नगर निगम चुनाव में उनके लिए पार्टी टिकटों का प्रबंध करेंगे।'' मनोज तिवारी द्वारा गठित दिल्ली भाजपा की नई कार्यकारिणी में गोयल का दखल था क्यांेकि उनके नजदीकी लोगों को इसमें पद मिले।

पार्टी पदाधिकारी ने कहा, ‘‘ये सभी बातें राष्ट्रीय पार्टी नेतृत्व के ध्यानार्थ लाई गई हैं और अमित शाह से शिकायत भी की गई है। विभिन्न राज्यों में चुनाव के बाद इस मामले को उठाया जाएगा।''

Share it
Top