यूपी: वाहनों की तलाशी में अब तक 80.71 करोड़ रुपये जब्त

यूपी: वाहनों की तलाशी में अब तक 80.71 करोड़ रुपये जब्तमुख्य निर्वाचन अधिकारी टी. वेंकटेश ने बताया कि आदर्श आचार संहिता के तहत फलाइंग स्क्वैड, पुलिस टीम एवं आयकर विभाग द्वारा की गई कार्यवाही में अब तक 80.41 करोड़ रुपये जब्त किए गए।

लखनऊ (आईएएनएस/आईपीएन)। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आदर्श चुनाव आचार संहिता के तहत की गई कार्रवाई के अंतर्गत अब तक 80.71 करोड़ रुपये सीज किए गए हैं। वहीं 1883 लोगों के खिलाफ एफआईआर और 11.69 करोड़ रुपये की मदिर जब्त की गई है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी टी. वेंकटेश ने बताया कि आदर्श आचार संहिता के तहत फलाइंग स्क्वैड, पुलिस टीम एवं आयकर विभाग द्वारा की गई कार्यवाही में अब तक 80.41 करोड़ रुपये जब्त किए गए। उन्होंने बताया कि सरकारी एवं निजी संपत्ति से अब तक कुल 23.61 लाख रुपये वॉल राइटिंग, पोस्टर, बैनर्स आदि विरूपित के 648 मामलों में एफआईआर दर्ज कराई गई।

उन्होंने बताया, ''वाहन पर लाल, नीली बत्ती, झंडे और लाउडस्पीकर के खिलाफ चलाए गए अभियान के अंतर्गत 25,109 प्रकरणों में कार्यवाही करते हुए 1235 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। इसी प्रकार बिना अनुमति के भाषण, रैली, पार्टी कार्यालय खोलने एवं मतदाताओं को प्रलोभन देने के 301 मामलों में कार्यवाही करते हुए अब तक 201 लोगो के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई।''

वेंकटेश ने बताया कि अन्य 11130 मामलों में भी कार्यवाही करते हुए 764 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है। प्रभावित करने तथा अन्य मामलों में अब तक कुल 36540 मामलों में कार्यवाही करते हुए 2208 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि अवैध मदिरा के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में अब तक 11.69 करोड़ रुपये मूल्य की 4343 लीटर देशी, विदेशी और बियर जब्त की जा चुकी है। आबकारी विभाग द्वारा रविवार को 15099 लीटर देशी, 1134 लीटर विदेशी जब्त की गई है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में निष्पक्ष एवं शांति पूर्ण मतदान कराने तथा कानून व्यवस्था पैनी नजर रखते हुए अब तक कुल 680132 लाइसेंसी हथियार जमा कराए गए, जिसमें 650 हथियार जब्त करते हुए 511 लाईसेंस निरस्त किए गए।

उन्होंने बताया कि अब तक 106 असलहों के कारखानों को सीज किया गया है। वहीं 12,818 व्यक्तियों के खिलाफ गैर जामानती वारेंट जारी किए गए हैं। उन्होंने बताया कि 7134 संवेदनशील मतदान केंद्र तथा मतदान को प्रभावित और समस्या पैदा करने वाले 23,877 व्यक्तियों की पहचान करते हुए उनके खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई की गई है।

Share it
Top