नोएडा से अब तक 10 नक्सली गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामद

नोएडा से अब तक 10 नक्सली गिरफ्तार,  भारी संख्या में हथियार बरामदयूपी एटीएस द्वारा गिरफ्तार किए गए नक्सली।

नोएडा। यूपी एटीएस के आईजी असीम अरूण ने आज बताया कि कल रात गिरफ्तार किए गए नक्सलियों का सरगना रंजीत पासवान भी गिरफ्तार कर लिया गया है। यह सभी नक्सली मोस्ट वांटेड हैं।

आईजी असीम अरूण ने बताया कि इनके पास हथियारों का बड़ा जखीरा, कारतूस, विस्फोटक पदार्थ बरामद किया गया। यह सभी पिछले कई महीने से नोेएडा व उसके आस-पास रह कर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे थे।

नोएडा से एक और संदिग्ध नक्सली की गिरफ्तारी के साथ अब तक स नक्सलियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। बीती रात से उत्तर प्रदेश के आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) और वाराणसी पुलिस की यह संयुक्त कार्रवाई थी। इस अभियान में दिल्ली पुलिस ने भी सहयोग दिया।

शनिवार की रात आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) की संयुक्त कार्रवाई के दौरान 9 नक्सली हत्थे चढ़ गए। बीती रात एटीएस ने सेक्टर 49 के हिंडन विहार इलाके में एक फ्लैट से 6 संदिग्ध नक्सलियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस पकड़े गए लोगों को नक्सली बता रही है, जो दिल्ली और आसपास बड़ी वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे थे। पुलिस के मुताबिक ये लोग कमांडो की ड्रेस में थे और इनके पास से हथियार भी बरामद हुए हैं।

नक्सलियों के पास से 6 पिस्टल, 50 कारतूस, 45 जिलेटिन की छड़ें, 125 डेटोनेटर, 13 मोबाइल फोन और 2 लैपटॉप बरामद किए गए हैं। इसके अलावा छापेमारी के दौरान एक वैगन कार भी बरामद की गई है, जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर गाजियाबाद का है। पुलिस का दावा है कि ये लोग इस इलाके में एक महीने से रुके हुए थे और 5 बड़े नक्सली नेताओं के संपर्क में थे। इन्हें नोएडा में हिंडन विहार के पास से हिरासत में लिया गया है। बाद में वहां स्थानीय पुलिस भी पहुंच गई थी।

गिरफ्तार किए गए नक्सलियों में प्रदीप कुमार सिंह नाम का नक्सली कमांडर भी शामिल है। प्रदीप के सिर पर 5 लाख रुपये का इनाम घोषित था। बताया जा रहा है प्रदीप बम बनाने का भी विशेषज्ञ है। प्रदीप की गिरफ्तारी सुरक्षा एजेंसियों की बड़ी सफलता मानी जा रही है।

Share it
Top