नरक से बदतर हैं उन्नाव वार्ड नंबर 9 के हालात 

नरक से बदतर हैं उन्नाव वार्ड नंबर 9 के हालात अकरमपुर नई बस्ती के बाशिंदे नारकीय जीवन जीने को विवश है।

उन्नाव। अकरमपुर नई बस्ती के बाशिंदे नारकीय जीवन जीने को विवश है। पालिका प्रशासन के नकारेपन और क्षेत्रीय सभासद की अनदेखी के चलते महीनों से जलभराव की समस्या से जूझ रहे लोगों में आक्रोश पनप रहा है। सभासद प्रतिनिधि से तमाम मिन्नतों के बाद भी समस्या का कोई हल न निकलता देख अब आंदोलन की तैयारी की जा रही है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

नगरपालिका के वार्ड संख्या 9 अकरमपुर यूँ तो तमाम समस्याआें से जूझ रहा है। जिनमें सबसे प्रमुख समस्या है जलभराव की। फोरलेन निर्माण के बाद से इस समस्या ने और विकराल रूप धारण कर लिया है। यहाँ की नई बस्ती में महीनो से जलभराव की समस्या बनी हुई है। आलम यह है कि गली के मुहाने में इस कदर नाली का दूषित पानी भरा है कि आने जाने वालों को उसी से होकर गुजरना पड़ रहा है। मौसम को देखते हुए आने वाले समय में संक्रामक बीमारियों का भय लोगो को सता रहा है। मोहल्ले की रहने वाली सावित्री सोनी बताती है कि सभासद से कई बार इस जलभराव से निजात दिलाने को कहा गया लेकिन उनका जवाब होता है कि मैं कुछ नहीं कर सकता नगर पालिका में शिकायत करो।

यही की रशीदा का कहना है की गन्दा पानी भरा होने के चलते मच्छरो का प्रकोप बढ़ गया है। रामकुमारी बताती है कि जलभराव के चलते पूजा पाठ भी दुष्वार हो गया है। घर से पवित्र होकर निकलो लेकिन नाली के गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ता है। युवा समाजसेवी सर्वेश उर्फ राजू गुप्ता ने बताया कि क्षेत्रीय सभासद नन्हकी देवी के प्रतिनिधि विजय नारायण जन समस्याआें के प्रति उदासीन है। इस जलभराव से गर्मी के मौसम में संक्रामक रोगों का खतरा लोगो को सता रहा है।

इस विकराल जनसमस्या को लेकर जनाक्रोश पनप रहा है। आगामी तहसील दिवस में हम सभी इसकी शिकायत करेंगे। यदि जरुरत पड़ी तो आगे और भी प्रदर्शन किया जायेगा। लाखन, राम बिहारी, सुनील, आेम प्रकाश आदि ने कहा कि जनप्रतिनिधि को जनता इसी लिए चुनती है कि उसकी समस्याआे का नीराकरंण हो। जब तक स्थाई निराकरण न हो तब तक वैकल्पिक इंतजाम किये जाने चाहिए।

क्या बोले सभासद प्रतिनिधि

इस सम्बन्ध में सभासद प्रतिनिधि विजय नारायण से हुई बातचीत में उन्होंने बताया कि फोरलेन में नाला खत्म हो गया है। जब तक नया नाला नहीं बनता तब तक कुछ नहीं किया जा सकता। नाला जल्द बने इस दिशा में क्या किया गया इस सवाल के जवाब में वह चुप्पी साध गए। हालांकि उन्होंने जल निकासी के वैकल्पिक इंतजाम जल्द किये जाने की बात कही है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top