राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की प्राथमिकता किसी धर्म को निशाना बनाना नहीं, बल्कि अमेरिका की सुरक्षा है : व्हाइट हाउस          

राष्ट्रपति डोनाल्ड  ट्रंप की प्राथमिकता किसी धर्म को निशाना बनाना नहीं, बल्कि अमेरिका की सुरक्षा है   : व्हाइट हाउस          व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर।

वाशिंगटन (भाषा)। मुस्लिम बहुल सात देशों के आव्रजन पर अमेरिकी प्रतिबंध को लेकर हो रही आलोचनाओं के बीच व्हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की शीर्ष प्राथमिकता किसी धर्म को निशाना बनाना नहीं, बल्कि अमेरिका की सुरक्षा करना है।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने संवाददाताओं से कल कहा, ‘‘राष्ट्रपति का पहला लक्ष्य हमेशा से ही अमेरिका की सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करना रहा है, न कि धर्म पर।'' स्पाइसर ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति समझते हैं कि यह धार्मिक समस्या नहीं है. यह कट्टरता की समस्या है. इस्लाम और हमें नुकसान पहुंचाने के लिए यहां आने वाले कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवादियों के बीच बहुत बड़ा अंतर है।''

प्रेस सचिव एक ऑडियो रिकॉर्डिंग से संबंधित प्रश्न का जवाब दे रहे थे जिसमें व्हाइट हाउस के प्रमुख रणनीतिकार स्टीव बैनन यह कहते सुनाई दे रहे हैं कि इस्लाम ‘अंधकार से भरा धर्म' है। स्पाइसर से पूछा गया था, ‘‘क्या राष्ट्रपति भी इस्लाम धर्म के मामले में अपने प्रमुख रणनीतिकार के विचारों से सहमत हैं?''

इस पर प्रेस सचिव ने कहा, ‘‘नहीं, मैं मानता हूं कि राष्ट्रपति इस मामले में बिल्कुल स्पष्ट हैं कि उनका प्रमुख लक्ष्य किसी के धर्म को निशाना बनाना नहीं हैं, बल्कि उनका लक्ष्य उन जगहों और क्षेत्रों को निशाना बनाना है जहां हमारे अनुसार समस्या है।''

Share it
Share it
Share it
Top