अमेरिकी उद्योग जगत ने कहा, भारतीय बजट भविष्योन्मुखी

अमेरिकी उद्योग जगत ने कहा, भारतीय बजट भविष्योन्मुखीबजट के बस्तों की जांच करता कुत्ता।

वाशिंगटन (भाषा)। वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा पेश वार्षिक बजट को ‘भविष्योन्मुखी' बताते हुए उद्योग संगठनों का कहना है कि यह पिछले तीन वर्षों में किए गए आर्थिक सुधारों पर आधारित बजट है।

अमेरिका-भारत व्यापार परिषद (यूएसआईबीसी) के अध्यक्ष मुकेश अघी ने कहा, ‘‘वैश्विक अनिश्चितताओं के बीच बजट को लागू करना चुनौतीपूर्ण हो सकता है, लेकिन वित्त मंत्री ने काबिले तारीफ काम किया है जिसमें घरेलू अर्थव्यवस्था को गति देने का दृष्टिकोण है और विदेशी निवेशकों का भी पूरा ध्यान इसमें रखा गया है।''

यूएसआईबीसी के अनुसार बजट में राजकोषीय स्थिरता एजेंडा का पालन किया गया है जो नरेंद्र मोदी के कारोबार सुगमता, लाल फीताशाही को कम करने, ‘स्किल इंडिया' में निवेश और नोटबंदी के ‘नकारात्मक प्रभाव' को कम करने के प्रयासों से प्रेरित है।

उद्योग संगठन ने सरकार के सस्ते आवास श्रेणी में उठाए गए कदमों का स्वागत किया है। इससे सरकार की महत्वाकांक्षी ‘सबको आवास योजना' के लक्ष्य को हकीकत में बदलने में मदद मिलेगी।

Share it
Top