माइक पेंस अमेरिका के नए उपराष्ट्रपति चुने गए

माइक पेंस अमेरिका के नए उपराष्ट्रपति चुने गएअमेरिका के नए उप राष्ट्रपति माइक पेंस।

न्यूयॉर्क (आईएएनएस)| डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के नए राष्ट्रपति चुने गए वहीं माइक पेंस (57 वर्ष) अमेरिका के नए उप राष्ट्रपति होंगे। माइक पेंस (57) पेंस लंबे समय से प्रतिनिधि सभा के सदस्य हैं और फिलहाल इंडियाना के रिपब्लिकन गर्वनर हैं।

पेंस ने बुधवार सुबह कहा, "अमेरिकियों ने अपनी इच्छा जाहिर कर दी है और अपना नया चैंपियन चुन लिया है।" उन्होंने कहा, "ट्रंप का नेतृत्व अमेरिका को एक बार फिर महान बनाएगा।"

माइक पेंस इंडियाना के 50वें गर्वनर

माइक पेंस इंडियाना के 50वें गर्वनर हैं। इनका चुनाव वर्ष 2012 में हुआ था। अब वे अमरीका के उपराष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बनाए गए हैं। वह वर्ष 2001 से 2013 तक हाउस आफ रिप्रेंजटेटिव्स के सदस्य रहे हैं। हाउस रिपब्ल्किन कॉन्फ्रेंस और रिपब्ल्किन स्टडी कमेटी के चेयरमैन भी रहे हैं। वर्ष 2006 में वे सदन में अल्पसंख्यकों के नेता बन गए। उन्होंने थिंक टैंक में नौकरी मिलने से पहले अटॉर्नी के रूप में निजी प्रैक्टिस की। माइक ने इंडियाना में रेडियो और टीवी शो की मेजबानी भी की।

इंडियाना के कोलंबस में हुआ था जन्म

उनका जन्म इंडियाना में ही कोलंबस के मध्यम वर्ग के परिवार में हुआ था। अपने परिवार के बच्चों में वह छठे नंबर पर थे। उनके अभिभावक नैंसी जेन और एडवर्ड पेंस गैस स्टेशन पर काम करते थे। उन्हें आयरिश वंश का कैथोलिक माना जाता है। उनके दादा शिकागो से और एक बस चालक थे। वे इलीस द्वीप से होते हुए आयरलैंड से अमरीका आए थे।

टीचर पत्नी व तीन बच्चे

माइक पेंस की पत्नी कारेन पेंस प्राथमिक स्कूल में अध्यापिका रह चुकी हैं। दोनों का विवाह 1985 में हुआ था और उनके तीन बच्चे हैं। उनका बेटा मिखाइल पेंस (24 वर्ष) नौसेना में अधिकारी है। उनकी बेटी चारलोटे पेंस (22 वर्ष) ने हाल में कॉलेज से स्नातक की डिग्री ली है और वह फिल्में बनाती हैं। उनकी सबसे छोटी बेटी आड्रे पेंस (21 वर्ष) हनोवर के कॉलेज जाती हैं और स्वयं को सामाजिक तौर पर उदार मानती है। वे कहती हैं कि उन्होंने अपने जीवन के विकल्प का चुनाव स्वयं किया हे इसलिए पिता को उन पर गर्व है। जब पेंस कांग्रेस में थे, तब उनका परिवार अरलिंगटन, वर्जीनिया में भी रह चुका हे।

पेंस रिपब्लिकन पार्टी के उप राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार 21 जुलाई को घोषित किए गए। पेंस ने कहा, "मैं उप राष्ट्रपति पद के लिए आपका नामांकन स्वीकार करता हूं।" रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के मुखर उम्मीदवार डोनल्ड ट्रंप की तुलना में पेंस शांत हैं और उन्हें वॉशिंगटन में कैपिटल हिल में काम करने का व्यापक अनुभव है। खबरों के मुताबिक, ट्रंप ने विभाजित रिपबिल्कन पार्टी में सोशल कंजर्वेटिव तबके को खुश करने के लिए पेंस को चुना है।

पेंस के भाषण में अर्थव्यवस्था, विदेश नीति, आव्रजन, नस्लवाद और आतंकवाद समेत प्रमुख नीतिपरक बिंदु शामिल थे। उन्होंने अपने भाषण के बीच कई चुटीली टिप्पणियां भी कीं। उन्होंने डेमोक्रेटिक पार्टी की राष्ट्रपति पद की प्रत्याशी व पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को 'यथास्थितिवाद की मंत्री' बताया।

Share it
Top