महिलाओं के लिए प्रेरणा हैं ‘लौह महिला’: अमेरिकी तमिल 

महिलाओं के लिए प्रेरणा हैं ‘लौह महिला’: अमेरिकी तमिल जे जयललिता

वॉशिंगटन (भाषा)। भारतीय अमेरिकी तमिलों ने कहा है कि जे जयललिता के जाने से भारतीय राजनीति में एक शून्य पैदा हो गया है और ‘लौह महिला' की विरासत हमेशा यादगार बनी रहेगी।

मेरीलैंड में विदेश उप मंत्री रह चुके और वर्तमान में परिवहन आयुक्त के बतौर काम कर रहे डॉ. राजन नटराजन ने कहा, ‘‘कई लोग उन्हें प्रेम से लौह महिला कहते थे, वह भारतीय राजनीति में छा गई थीं और उनकी विरासत हमेशा याद रहेगी। जयललिता ने अपने राजनीतिक जीवन में जो साहस दिखाया था उसका कोई मुकाबला नहीं कर सकता।''

अमेरिका के इतिहास में सर्वोच्च प्रशासनिक पद पर काम करने वाले पहले तमिल अमेरिकी नटराजन ने कहा, ‘‘निडर प्रशासक, स्वप्नदर्शी और दबंग नेता, उनके जाने से भारतीय राजनीति में एक शून्य पैदा हो गया है। जनता उन्हें प्रेम से ‘अम्मा (मां)' कहती थी, उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में बहुत सारे उतार-चढ़ाव का सामना किया।''

मिशीगन यूनिवर्सिटी में मनोविज्ञान के सहायक प्राध्यापक राम महालिंगम ने कहा, ‘‘जयललिता का जाना तमिलनाडु में राजनीति के सिनेमाई दौर का अंत होने का संकेत है। वह एक मजबूत महिला थीं जो स्वतंत्र फैसले लेती थीं। अपनी पार्टी की सुप्रीम नेता वही थीं। भारत में नेता बनने की इच्छुक महिलाओं के लिए उनकी सफलता प्रेरणादायक है।''

Share it
Top