महिला चिल्लाई नहीं, इसका मतलब बलात्कार नहीं हुआ: इतालवी अदालत

महिला चिल्लाई नहीं, इसका मतलब बलात्कार नहीं हुआ: इतालवी अदालतइतालवी संवाद समिति एएनएसए ने कल कहा कि मंत्री आंद्रे ओर्लांदो ने मंत्रालय निरीक्षकों से इस मामले की जांच करने को कहा है।

रोम (एपी)। इटली के न्याय मंत्री ने अपने अधिकारियों से उस मामले की कथित रुप से जांच करने को कहा है जिसमें एक अदालत ने एक महिला के बलात्कार के आरोपी को इसलिए बरी कर दिया क्योंकि महिला मदद के लिए चिल्लाई नहीं थी। इतालवी संवाद समिति एएनएसए ने कल कहा कि मंत्री आंद्रे ओर्लांदो ने मंत्रालय निरीक्षकों से इस मामले की जांच करने को कहा है।

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

एएनएसए ने कहा कि तुरिन में एक अदालत ने पिछले महीने फैसला सुनाया था कि कथित रुप से बलात्कार करने वाले अपने सहकर्मी को महिला का ‘बहुत हो चुका' कहना यह साबित करने के लिए बहुत कमजोर प्रतिक्रिया है कि उसका बलात्कार हुआ था। फैसले में कहा गया था कि वह चिल्लाई नहीं या उसने मदद नहीं मांगी। विपक्षी फोर्जा इटालिया पार्टी के सांसद अन्नाग्रेजिया कलाब्रिया ने फैसले की निंदा की। महिला समूहों ने भी इस फैसले की आलोचना की है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top