मानसून सत्र: प्रधानमंत्री ने संसद सत्र सुचारू रूप से चलाने के लिए राजनीतिक दलों से मांगा सहयोग

संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि संसद की कार्यवाही 18 जुलाई से शुरू होगी और यह 10 अगस्त तक चलेगी। मानसूत्र सत्र के दौरान 18 बैठकें होंगी। इस दौरान 46 विधेयकों पर विचार किया जाएगा और 2 वित्तीय कामकाज होंगे।

मानसून सत्र:  प्रधानमंत्री ने संसद सत्र सुचारू रूप से चलाने के लिए राजनीतिक दलों से मांगा सहयोग

नई दिल्ली। संसद सत्र में कामकाज सुचारू रूप से चलाने के लिये सभी दलों से सहयोग की अपील करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि सरकार सभी राजनीतिक दलों द्वारा उठाये गए मुद्दों को काफी महत्व देती है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सत्र के दौरान सभी राजनीतिक दल राष्ट्रीय महत्व के विषयों पर सकारात्मक चर्चा करेंगे। बुधवार से शुरू संसद के मानसून सत्र से पहले सरकार की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने सभी राजनीतिक दलों से राष्ट्र के हित को देखते हुए मानसूत्र सत्र में सकारात्मक माहौल कायम करने का सामूहिक प्रयास करने की अपील की।

राहुल गांधी को विदेशी कहना इस नेता को पड़ा भारी, मायावती ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की कुर्सी छीनी



मोदी ने कहा, " सरकार सभी राजनीतिक दलों द्वारा उठाये जाने वाले मुद्दों को काफी महत्व देती है।" उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि सभी राजनीतिक दल संसद की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने में सहयोग करेंगे और राष्ट्रीय महत्व के विषयों पर सार्थक चर्चा करेंगे। सरकार ने दावा किया कि विपक्षी दलों ने संसद की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने में सहयोग का आश्वासन दिया है।

संसद भवन के ज्ञानपीठ में हुई बैठक के बाद संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने संवाददाताओं से कहा, प्रधानमंत्री ने संसद के सुचारू और सार्थक सत्र के लिये सभी राजनीतिक दलों का सहयोग मांगा है। लोग उम्मीद करते हैं कि संसद में कामकाज हो और हम सभी को यह सुनश्चिति करना चाहिए।

राष्ट्रीय डेरी अनुसंधान संस्थान को मिला सर्वश्रेष्ठ संस्थान का पुरस्कार



उन्होंने कहा कि देश के लोग चाहते हैं कि संसद की कार्यवाही सुचारू रूप से चले और सरकार ने सभी राजनीतिक दलों विशेष तौर पर विपक्ष से बिना किसी अवरोध के सार्थक कार्यवाही सुनश्चिति करने में सहयोग का आग्रह किया है। कुमार ने कहा कि सभी राजनीति दल मानसून सत्र में सार्थक कामकाज के पक्ष में है। सरकार नियमों के तहत किसी भी विषय पर चर्चा कराने को तैयार है।

सरकार संसद की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने के लिये कोई कसर नहीं छोड़ेगी। संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि संसद की कार्यवाही 18 जुलाई से शुरू होगी और यह 10 अगस्त तक चलेगी। मानसूत्र सत्र के दौरान 18 बैठकें होंगी। इस दौरान 46 विधेयकों पर विचार किया जाएगा और 2 वित्तीय कामकाज होंगे।

संसद भवन परिसर में गूंजेगी नौनिहालों की किलकारी



Share it
Top