छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 24 जवान शहीद, सात घायल

छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 24 जवान शहीद, सात घायलनक्सली हमला सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर किया गया (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले से एक बुरी खबर आ रही है। यहां एक नक्सली हमले में 24 जवान शहीद हो गए जबकि छह जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं सात जवान लापता बताए जा रहे हैं।

सुकमा का घना इलाका नक्सलियों की राजधानी माना जाता है। बताया जा रहा है कि दोपहर करीब 12.25 बजे सुकमा के बुरकापाल-चिंतागुफा इलाके के पास सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया। सीआरपीएफ की टुकड़ी में 90 जवान थे। वहीं नक्सलियों की 50-50 की तीन टुकड़ियों ने हमला किया। नक्सलियों ने ग्रामीणों के वेष में हमला किया और जवानों के हथियार भी लूट लिए।

गंभीर रूप से घायल जवानों को हेलिकॉप्टर से इलाज के लिए रायपुर ले जाया जा रहा है। हमला सीआरपीएफ कैंप जो गोंडापाल में है, के बहुत नजदीक है। केंद्रीय गृह सचिव ने मामले पर आपातकालीन बैठक बुलाई है।

एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अपनी दिल्ली की यात्रा रद्द करते हुए वापस रायपुर की ओर रवाना हो गए हैं। यहां वह एक मीटिंग करेंगे।

इसी साल 11 मार्च को नक्सलियों ने घात लगाकर सुरक्षा बलों पर हमला किया था जिसमें सेना के 12 जवान शहीद हो गए थे। इसके पहले 10 मार्च को नक्सलियों ने सुकमा में मुखबिर होने के संदेह में एक सरपंच की हत्या कर दी थी। नक्सल प्रभावित सुकमा इलाके में आए दिन नक्सलियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ होती रहती है।

अब तक की बड़ी नक्सली वारदातें एक नज़र में

  • 6 अप्रैल 2010 को छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने सुरक्षा बल के जवानों पर अब तक का सबसे बड़ा हमला किया था। दंतेवाड़ा जिले के ताड़मेटला में नक्सलियों ने एंबुश लगाकर सीआरपीएफ के 76 जवानों को अपना निशाना बनाया था।
  • नक्सलियों ने 11 मार्च 2014 को इसी तरह टाहकवाड़ा में सीआरपीएफ की टीम पर हमला किया था, जिसमें 16 जवान शहीद हो गए थे।

  • सितम्बर 2005 में गंगालूर रोड पर एंटी-लैंडमाइन वाहन के ब्लास्ट - 23 जवान शहीद हुए थे।
  • जुलाई 2007 में एर्राबोर अंतर्गत उरपलमेटा एम्बुश में 23 सुरक्षाकर्मी मारे गए।
  • अगस्त 2007 में तारमेटला में मुठभेड़ में थानेदार सहित 12 जवान शहीद हुए।
  • 12 जुलाई, 2009 को जिला राजनांदगांव में एम्बुश में पुलिस अधीक्षक वीके चौबे सहित 29 जवान शहीद हुए। इसी प्रकार नारायणपुर के घौडाई क्षेत्र अंतर्गत कोशलनार में 27 सुरक्षाकर्मी एम्बुश में मारे गए थे।

Share it
Top