बिहार में बाढ़ ने लील ली 119 जिंदगियां, 16 जिलों के लगभग एक करोड़ लोग प्रभावित 

बिहार में बाढ़ ने लील ली 119 जिंदगियां, 16 जिलों के लगभग एक करोड़ लोग प्रभावित बिहार के कटिहार जिले में बाढ़ में बह रहे बच्चे को बचाता सेना का जवान।  फोटो : एएनआई

पटना/नई दिल्ली। पड़ोसी देश नेपाल और बिहार में लगातार हुई भारी बारिश के कारण अचानक आयी बाढ़ से बिहार में अबतक 119 लोगों की मौत हो जाने के साथ बाढ़ से अब तक 16 जिलों की लगभग एक करोड़ आबादी प्रभावित हुई है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गोपालगंज, बगहा, बेतिया, रक्सौल तथा मोतिहारी का हवाई सर्वेक्षण कर बाढ़ग्रस्त इलाकों का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने बेतिया हवाई अड्डा स्थित हेलीपैड पर पश्चिम चम्पारण जिले में आयी बाढ़ के उपरान्त जिला प्रशासन द्वारा चलाये जा रहे राहत एवं बचाव कार्यों की स्थिति को भी देखा। उन्होंने कहा कि पश्चिम चम्पारण में फ्लैश फ्लड के चलते तबाही हुयी है।

मुख्यमंत्री ने राहत एवं बचाव कार्य तीव्र गति से चलाने एवं हर जरूरतमंद लोगों को त्वरित मदद पहुंचाने का निर्देश दिया। उन्होंने बेतिया नगर भवन स्थित इनडोर स्टेडियम पहुंचकर वहां बाढ़ पीड़ितों के लिये तैयार किये जा रहे फूड पैकेट कार्य का भी निरीक्षण किया और वरीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उनके साथ उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, वन एवं पर्यावरण प्रधान सचिव सह प्रभारी सचिव पश्चिम चम्पारण विवेक कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के सचिव अतीश चन्द्रा, जिलाधिकारी बेतिया डॉ. नीलेश देवरे, पुलिस अधीक्षक बेतिया विनय कुमार सहित अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें:- बिहार बाढ़ : एनडीआरएफ की बचाव नौका में गूंजी किलकारी

मुख्यमंत्री के निर्देश पर सीतामढ़ी, शिवहर, दरभंगा, मधुबनी, बेतिया एवं मोतिहारी के जिलाधिकारियों ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। आपदा प्रबंधन विभाग के विशेष सचिव अनिरुद्ध कुमार अमृत ने बताया कि बाढ़ प्रभावित प्रदेश के 16 जिलों किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, कटिहार, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, दरभंगा, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सीतामढी, शिवहर, गोपालगंज, सुपौल, मधेपुरा, सहरसा एवं खगडिया में से सबसे अधिक 23 लोग अररिया में, सीतामढी में 12, किशनगंज, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण एवं सुपौल में 11-11 यानि 44, मधुबनी एवं कटिहार में 7-7,मधेपुरा एवं पूर्णिया में 5-5,दरभंगा एवं सहरसा में 4-4,खगड़िया एवं गोपालगंज में 3-3 और शिवहर 2 व्यक्ति की मौत हुई है।

ये भी पढ़ें:- बिहार : टूटते बांध को बचाने के लिए खुद बालू की बोरियां ढोने लगे डीएम और एसपी

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधानसचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि भारतीय मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार के दक्षिणी इलाके में अगले एक हफ्ते तक बारिश की संभावना जतायी गयी है पर पड़ोसी देश नेपाल और उत्तर बिहार में कम बारिश होने के आसार हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के द्वारा बाढ़ में घिरे लोगों को सुरक्षित निकाले जाने का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। अब तक 3.59 लाख लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाके से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है और 504 राहत शिविरों में 2.13 लाख व्यक्ति शरण लिए हुए हैं। उन्होंने बताया कि 3.19 लाख बाढ़ पीड़ितों के लिए कुल 1112 सामुदायिक रसोई संचालित की गयी हैं।

देखते ही देखते बह गई सड़क, समा गई कई जिंदगियां

ये भी पढ़ें:- बिहार में बाढ़ की असली तस्वीर दिखाती हैं ये फेसबुक पोस्ट्स

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top