कृषि कार्य में लोगों की संख्या में 12 प्रतिशत बढ़ोतरी 

कृषि  कार्य में लोगों की संख्या में 12 प्रतिशत बढ़ोतरी  किसान।

नई दिल्ली(भाषा)। पिछले एक दशक में देश में कृषि क्षेत्र में कार्यरत लोगों की कुल संख्या में 12 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है और हाल के वर्षो में विभिन्न स्रोतों से प्रति कृषि परिवार औसत आय प्रति माह 6426 रुपये होने का अनुमान लगाया गया है।

अमेरिका का ये ‘वायरस’ कर सकता है भारत में टमाटर की खेती को बर्बाद

लोकसभा में पेश कृषि मंत्रालय के आंकडों के मुताबिक, नवीनतम परिणामों के अनुसार जुलाई 2012 से जून 2013 की अवधि में विभिन्न स्रोतों से प्रति कृषि परिवार औसत आय प्रति माह 6426 रुपये अनुमानित है।

मंत्रालय के आंकडों में जनगणना 2011 का उल्लेख करते हुए कहा गया है कि देश में कृषि क्षेत्र में कार्यरत लोगों की कुल संख्या विगत दशक के दौरान 12 प्रतिशत बढ़ी है। अर्थात 2001 में यह 23.4 करोड़ से बढ़कर 2011 में 26.3 करोड़ हो गई है। इसके अलावा ग्रामीण रोजगार सृजन योजना आदि के कारण भी गैर कृषि क्रियाकलापों में रोजगार के अवसरों में वृद्धि हुई है।

नक्सल प्रभावित बस्तर में खेती से बदल रहे आदिवासी परिवारों की ज़िंदगी

कृषि मंत्रालय ने साल 2003 से 2013 के दौरान किसानों की स्थिति आकलन सर्वेक्षण का कार्य किया गया था। इस दौरान जुलाई 2012 से जून 2013 के दौरान कृषि आधारित परिवारों की स्थिति का आंकलन सर्वेक्षण किया गया जिसका मकसद कृषि परिवारों की आय एवं व्यय का पता लगाना था।

इसके बीच, 2011 के सामाजिक आर्थिक जाति गणना में 17.97 करोड परिवार में से 5.39 करोड परिवारों के भूमिहीन होने की बात कही गई है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top