उसे सिर्फ इसल‍िए जला दिया कि उसने छेड़खानी का विरोध किया था

Ranvijay SinghRanvijay Singh   22 Aug 2019 9:25 AM GMT

लखनऊ। वो दर्द से कराह रही है, नर्स जब उसके जले घाव पर मलहम लगाती है तो वो चीख उठती है। उसकी चीखें रोंगटे खड़े कर देती हैं, उसकी चीखें अस्‍पताल के उस खास हिस्‍से में दर्द को भर देती हैं।

यह कहानी है सीतापुर के एक गांव की लड़की (16 साल) की, जिसे सिर्फ इस लिए जला दिया गया क्‍योंकि उसने छेड़खानी का विरोध किया था। उसका चेहरा पूरी तरह जल चुका है, आग ने उसके शरीर को भी काफी नुकसान पहुंचाया है। जलने की वजह से उसके घाव से खून रिस रहा है और जिन घाव पर पपड़ी जमी है उसे छुड़ाते ही घाव ताजा हो जाते हैं, मवाद और खून उसमें से रिसने लगता है।

इस लड़की के हालात पर लखनऊ के सिविल अस्‍पताल के डॉक्‍टर बताते हैं कि वो 80 प्रतिशत तक जल चुकी है। लड़की के पिता ने गांव कनेक्शन को बताया, ''मेरी बेटी मंगलवार (20 अगस्‍त) सुबह शौच के लिए गई थी। तभी गोलू (22 साल) नाम के लड़के ने उससे छेड़खानी शुरू कर दी। मेरी पत्‍नी ने यह बात देखी तो लड़का भाग गया। बाद में मेरी पत्‍नी आई और मुझसे यह बात बताई।''

लड़की के पितालड़की के पिता

लड़की के पिता कहते हैं, मेरी पत्‍नी ने जब यह बताया तो हम लोग पुलिस के पास गए और तहरीर दी। पुलिस ने कहा कि तुम चलो हम आते हैं, लेकिन कोई नहीं आया। अगले दिन (21 अगस्‍त) हम जब पुलिस के पास गए तो हमसे शाह महोली चौकी जाने को कहा गया।

''हम लोग महोली कोतवाली गए तो हमें मोबाइल नंबर दे दिया और कहा कि तुम चलो हम आते हैं। मैं दुकान पर रुक गया और मेरी पत्‍नी घर चली गई। उसने बताया कि जब वो घर पहुंची तो चीख पुकार मची हुई थी। बच्‍चों ने बताया कि गोलू आया था और मिट्टी तेल छिड़ककर आग लगा दी है और भाग गया है।''

''इसके बाद गांव वालों ने मुझे सूचना दी तो मैं भी भागा भागा घर पहुंचा। घर पहुंचकर 100 नंबर मिलाया तो वहां से भी कहा गया कि अभी आ रहे हैं और कोई नहीं आया। इसके बाद शाह महोली की पुलिस आई तब ऑटो लिया और लड़की को लेकर जिला अस्‍पताल पहुंचे, जहां से लखनऊ भेज दिया गया।''

लड़की के पिता के कहते हैं, ''मेरी बेटी ने कहा कि पापा गोलू आया था, आग लगाकर भाग गया।'' यह कहते हुए लड़की के पिता के आंखों में आंसू भर जाते हैं। लड़की के पैरों के पास ही बैठी उसकी मां बार-बार अपने लड़की का चेहरा देख रो पड़ती है। वो कहती हैं, ''जब पुलिस वालों के पास गई तो उन लोगों ने कहा, इतनी बड़ी लड़की हो गई है, इसकी शादी नहीं कर पाती हो, घर में बैठाई हो। फिर पुलिस वालों ने यह कहकर कि हम आएंगे हमें घर भेज दिया। घर पहुंचे तो यह घटना हो चुकी थी।''


लड़की की मां रोते हुए कहती हैं, ''गोलू ने मेरी बेटी को जला दिया, मौके पर अगर पुलिस वाले पहुंच जाते तो आज मेरी बिटिया जलाई नहीं जाती। मैंने हाथ जोड़ाकर कहा था कि बाबू जी आ जाना, लेकिन कोई आया नहीं।''

गांव कनेक्‍शन की ओर से जब इस मामले पर सीतापुर के एसपी के सीयूजी नंबर पर कॉल किया गया तो कॉल रिसीव नहीं किया गया। जैसे ही इस मामले पर कोई आध‍िकारिक बयान आता है खबर में अपडेट किया जाएगा।

हिंदुस्‍तान अखबार को सीतापुर नगर कोतवाल अम्‍बर सिंह ने बयान दिया कि ''पीड़‍िता की मां की शिकायत पर शाह महोली चौकी इंचार्ज गांव गए थे। कुछ तथ्‍य पता चले हैं। फिलहाल मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई है। आरोपी की धरपकड़ के लिए पुलिस टीम लगा दी गई है।''


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top