जिस मुद्दे पर देशभर में हुआ था विवाद, उस पर केरल की 17 मस्जिदों ने लिया सराहनीय फैसला

जिस मुद्दे पर देशभर में हुआ था विवाद, उस पर केरल की 17 मस्जिदों ने लिया सराहनीय फैसलाध्वनि प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए लिया फैसला (फोटो साभार: इंटरनेट)

लखनऊ। केरल की 17 मस्जिदों ने ध्वनि प्रदूषण को कम करने में अपना योगदान देने के लिए एक सराहनीय फैसला लिया है। इसमें केरल के मलप्पुरम के वझक्कड़ की 17 मस्जिदें अब दिन में एक बार ही लाउडस्पीकर से अजान करेंगी।

मस्जिदों की कमिटी टीम ने यह फैसला अलग-अलग समय में होने वाली अज़ान की आवाज से इलाके में रहने वाले लोगों की असुविधा को महसूस करके किया है। खास बात ये है कि पिछले पांच दिनों से मस्जिदें इसका अभ्यास भी कर रही हैं।

मामले में वझक्कड़ मस्जिद कमेटी के अध्यक्ष टीपी अब्दुल अजीज ने द न्यूज मिनट को बताया, ‘हम में से ज्यादातर लोगों ने यह तय किया कि हमें ध्वनि प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए साथ आना चाहिए। कई चरण में हमने विचार-विमर्श करने के बाद सर्वसम्मति से हमने यह फैसला लिया है।’

ये भी पढ़ें: देश में पहली बार: एक ऐसी मस्जिद जहां इशारों में पढ़ाई जा रही है नमाज़

कमेटी सदस्यों की तरफ से जो समझौता हुआ है उसके अनुसार, इलाके में सबसे बड़ी मस्जिद विजय जुमा मस्जिद अज़ान के लिए लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करेगी और बाकी मस्जिदें बिना लाउडस्पीकर से अज़ान सुनाएंगी।

इलाके में दिन में पांच बार अलग-अलग समय पर अजान दी जाती थी। जिसकी वजह से काफी लोग को परेशानी होती थी। इसलिए हमने इसे सुलझाने के लिए बातचीत की और इसका समाधान निकाला गया।

पिछले दिनों सिंगर सोनू निगम के अज़ान को लेकर किए गए विवादित ट्वीट के बाद यह एक बहस का मुद्दा बन गया था। इसके बाद मौलवी ने सोनू पर फतवा जारी कर दिया था और सोनू निगम का सिर मुंडाने वाले को 10 लाख का घोषित किया था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top