राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे लगाए जाएंगे 200 करोड़ पेड़, यात्रियों को मिलेगी राहत

राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे लगाए जाएंगे 200 करोड़ पेड़, यात्रियों को मिलेगी राहतसाभार: इंटरनेट

लखनऊ। राष्ट्रीय राजमार्ग के 1 लाख किलोमीटर के रेडियस में सरकार 200 करोड़ पेड़ों को लगाने की एक परियोजना पर काम कर रही है, इसके तहत देशभर के बेरोजगार युवकों को रोजगार देने पर भी काम किया जाएगा। राष्ट्रीय राजमार्ग और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को बताया कि उन्होंने इस बाबत संबंधित अधिकारियों से बात की है, और उनसे इसपर एक ऐसी योजना के साथ आने को कहा है जो पर्यावरण के बेहतरी के लिए तो हो ही साथ ही बेरोजगार युवकों को भी रोजगार देने का काम कर सकें।

द हिंदू की खबर के अनुसार एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बात करते हुए नितिन गडकरी ने कहा कि ऐसी एक योजना हम गांवों में भी मनरेगा(MNREGA) योजना की तहत प्रभाव में ला सकते हैं। इसमें हम गांव, शहर की सड़कें और राज्य के हाइवे पर पेड़ लगवाने की योजना पर काम कर रहे हैं। इस योजना के आने पर 30 लाख बेरोजगार युवकों को सीधे सीधे रोजगार दिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- सूखे और बाढ़ से बचना है तो लगाएं पेड़

गडकरी ने बताया कि इस योजना को क्रियान्वित करने के लिए ग्राम पंचायत से सहायता ली जाएगी और हर बेरोजगार युवक को 50 पेड़ लगाने की जिम्मेदारी दी जाएगी। इसके एवज में उन्हें मेहनताना भी दिया जाएगा। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री गडकरी ने पानी की बचत पर भी जोर दिया है। उन्होंने कहा कि बारिश का 60 प्रतिशत पानी जो समुद्र में जाता है, उसमें से अगर 15 फीसद जल की बचत की जाए तो पानी की समस्या से निजात पाया जा सकता है। जहां जहां पानी को लेकर गंभीर समस्या है, वहां स्टोर किए हुए पानी का उपयोग किया जा सकता है।

सरकार मेगा प्रोजेक्ट्स के बजाय चेक-डैम बनाने पर जोर दे रही है। गडकरी ने कहा कि जल योजनाओं के रास्ते में सबसे बड़ी रोक बिजली की कमी है। नियमित ऑडिटिंग से बिजली की स्थिति में सुधार के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जैव ईधन(Bio Gas) को बढ़ावा देकर पेट्रोल, डीजल और गैस के आयात में कमी लाकर तकरीबन 6 लाख करोड़ रूपये बचाने की योजना पर सरकार काम कर रही है।

यह भी पढ़ें- पेड़-पौधे भी बताते हैं वायु प्रदूषण का हाल

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top