अंग्रेजी साहित्य का जादूगर, जो आज भी करता है लोगों के दिलों पर राज

अंग्रेजी साहित्य का जादूगर, जो आज भी करता है लोगों के दिलों पर राजविलियम शेक्सपियर

लखनऊ। अंग्रेजी भाषा के महान नाटककार, कवि और अभिनेता विलियम शेक्सपियर का आज जन्मदिन है। यही नहीं आज उनकी पुण्यतिथि भी है। विलियम शेक्सपियर का जन्म 23 अप्रैल 1564 को और निधन 23 अप्रैल 1616 को हुआ था।

हैमलेट, मैकबेथ, ओथेलो, रोमियो जूलियट जैसे 38 मशहूर नाटक लिखने वाले विलियम शेक्सपियर ने आज से लगभग 450 साल पहले लोगों के लिए ऐसा साहित्य जो आज भी लोगों के जेहन में उसी ताजगी से जिंदा है जैसे वह तब हुआ करता होगा।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

विलियम शेक्सपियर को इंग्लैण्ड से राष्ट्रीय कवि का दर्जा दिया गया है और उन्हें 'बार्ड ऑफ एवन' कहकर पुकारा जाता है। शेक्सपियर ने 154 चौदह पदों की कविताएं (सॉनेट) और दो विवरणात्मक कविताएं भी लिखी हैं। उनका जन्म इंग्लैण्ड के रिकशायर में स्ट्रैटफोर्ड आन एवन में हुआ था। इसीलिए उन्हें बार्ड ऑफ एवन यानि एवन का कवि कहा जाता है।

उनकी लिखी कविताओं, नाटकों और सॉनेट में कुछ ऐसा जादू है जिनसे लगभग हर व्यक्ति ताल्लुक रखता है। उनमें जो संवेदनाएं समाई हुई हैं उनसे जैसे हर किसी का रिश्ता सा जुड़ जाता है। उनके लिखे साहित्य के हीरो, हीरोइन, विलेन हमें आज भी अपने आस-पास दिखते रहते हैं।

शेक्सपियर के पिता का नाम जॉन शेक्सपियर और माता का नाम मेरी आर्डन था। शेक्सपियर के परिवार में पैसों को लेकर इतनी दिक्कत थी कि बचपन में ही उन्हें पढ़ाई छोड़नी पड़ी और काम पर लगना पड़ा। आर्थिक कठिनाइयों के कारण उन्होंने थिएटर की में नौकरी शुरू कर दी और धीरे-धीरे उन्हें इस काम से इतना प्यार हो गया कि वह लंदन के कई बड़े थिएटर्स में काम करने लगे। यह लगाव इतना बढ़ गया कि उन्होंने खुद ही नाटक लिखना भी शुरू कर दिया और यहीं से शुरू हो गया उनकी अद्भुत रचनाओं का सफर। उनकी महत्वपूर्ण रचनाओं में हैमलेट, ऑथेलो, किंग लियर, मैकबेथ, जूलियस सीजर प्रसिद्ध है।

बॉलीवुड का शेक्सपियर कनेक्शन

बॉलीवुड का विलियम शेक्सपियर से गहरा कनेक्शन रहा है। निर्माता-निर्देशक विशाल भारद्धाज तो पूरे बॉलीवुड में उनके सबसे बड़े फैन हैं। विशाल भारद्वाज ने सबसे पहले शेक्सपियर के नाटक पर जो फिल्म बनाई थी वह थी 'मकबूल' और इसका आधार था प्रसिद्ध नाटक 'मैकबेथ'। उन्होंने शेक्सपियर के नाटक ओथेलो पर 'ओमकारा', हेमलेट पर 'हैदर' बनाई है। उनके द्वारा बनाई गई फिल्म 'गोलियों की रासलीला: रामलीला' को भी शेक्सपियर के नाटक रोमियो जूलियट पर आधारित बताया जाता है। इस तरह के सिनेमा को पसंद करने वालों को उम्मीद है कि आगे भी शेक्सपियर की रचनाओं को केंद्र में रखकर फिल्म बनाएंगे।

सिर्फ यही नहीं 1988 की सबसे ज्यादा चलनी वाली फिल्म 'कयामत से कयामत तक' भी विलियम शेक्सपियर के प्रसिद्ध नाटक रोमियो जूलियट पर बनी हुई है। जानकारों का तो यह भी कहना है कि 2012 में आई अर्जुन कपूर और परिणीति चोपड़ा की फिल्म 'इश्कजादे' भी रोमियो जूलियट पर ही अधारित है। विलियम शेक्सपियर से बॉलीवुड का प्यार दशकों पुराना है। 1941 में आई जेजे मदन की फिल्म 'जालिम सौदागर' भी शेक्सपियर के इसी नाटक मर्चेन्ट ऑफ द वेनिस पर आधारित थी। इन सबमें सबसे ज्‍यादा फेमस हुई 1982 में आई संजीव कुमार और देवेन वर्मा स्‍टारर फिल्‍म 'अंगूर' जिसे गुलजार ने डायरेक्‍ट किया था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top