सोनभद्र में अगले एक महीने में बनेंगे 70000 शौचालय, शुरू हुआ "अबकी बरसात शौचालय के साथ" अभियान

स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत सोनभद्र जिले में "अबकी बरसात शौचालय के साथ" महा अभियान का शुभारंभ

सोनभद्र में अगले एक महीने में बनेंगे 70000 शौचालय, शुरू हुआ अबकी बरसात शौचालय के साथ अभियान

सोनभद्र जिले में स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत "अबकी बरसात शौचालय के साथ" महाअभियान का शुभारंभ 5 जून को हो गया जो 5 जुलाई 2018 तक चलेगा। इस महा अभियान की शुरुआत ग्राम पंचायत कोटा, विकासखंड चोपन में जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह, सदर विधायक भूपेश चौबे और दूसरे अधिकारियों ने 1140 शौचालयों के गड्ढों की खुदाई कर की।

जनपद सोनभद्र में एक महीने में 70000 शौचालय बनाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें विकासखंड रॉबर्ट्सगंज में 10325, विकासखंड घोरावल में 15094, विकासखंड चतरा में 3205, विकासखंड में 5075 विकासखंड चोपन में 5136, विकासखंड म्योरपुर में 6516, विकासखंड दुद्धी में 8354, विकासखंड बबुनी में 1623 शौचालयों के गड्ढे खोद कर निर्माण कार्य किए जाने का लक्ष्य रखा गया है। मंगलवार को इस महाभियान में सभी ग्राम पंचायतों में लाभार्थियों द्वारा स्वयं का गड्ढा खोद जा रहा है। शौचालय के गड्ढे के निशान के लिए जिले के सभी 1400 सफाईकर्मी एवं राज मिस्त्रियों को लगाया गया है।

लाभार्थियों के यहां गड्ढा किस मानक का होना चाहिए यह जानकारी देते हुए 1 मीटर गोल और 1 मीटर गहराई का गड्ढा खोदा गया । उसके अनुसार 1 मीटर 20 सेंटीमीटर की लकड़ी काटकर दी गई एवं यह बताया गया कि इसके अनुसार ही दोनों गड्ढों को खोदा जाए। प्रथम चरण में यह लक्ष्य रखा गया कि गड्ढा खोदने के साथ-साथ गड्ढे की चिनाई का कार्य प्रारंभ कर न्यूतम स्तर तक की जुड़ाई कर लिया जाए। जिसको बरसात में पूर्ण करा लिया जाएगा।

ग्राम पंचायत सलखन में सांसद छोटेलाल खरवार ने 501 शौचालय का गड्ढा खोदकर विधिवत निर्माण कार्य शुरू कराया । इसीके अनुसार प्रत्येक विकासखंड में शौचालय का निर्माण कार्य के साथ मंगलवार को प्रारंभ कर दिया गया है। ग्राम पंचायत कोटा में सदर विधायक भूपेश चौबे ने कहा कि समाज में खुले में शौच की कुप्रथा को समाप्त करना होगा क्योंकि खुले में शौच के वजह से महिलाओं का मान-सम्मान खतरे में रहता है साथ ही बीमारी बढ़ती है। इसी वजह से लोग गरीबी के दुष्चक्र में फंसे रहते हैं। इससे निकलने के लिए हम सभी को स्वच्छता को अपनाना होगा और खुले में शौच बंद करना पड़ेगा।

इस मौके पर जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने कहा कि इस अभियान को शुरू करने की वजह यह है कि बरसात के समय में खेतों में पानी भर जाता है जिसकी वजह से जिन लोगों के यहां शौचालय नहीं हैं वे लोग खुले में सड़क के किनारे किनारे बैठते हैं। इससे महिलाओं को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा बरसात में कीचड़ होता है इससे बच्चे, बुजुर्ग व गर्भवती महिलाओं के हमेशा फिसलने व गिरने का डर बना रहता है। जिलाधिकारी ने उम्मीद जताते हुए कहा कि हमारी कोशिश रहेगी कि 15 अगस्त 2018 को जनपद सोनभद्र के लोगों को खुले में शौच से आजादी मिले। 15 अगस्त को इस कार्यक्रम को विधिवत कलेक्ट्रेट में मनाया जाए, जिसमें जनपद के सभी प्रधान भी प्रतिभाग करें।

ग्राम पंचायत सलखन में सांसद छोटेलाल खरवार ने कहा कि "अबकी बार, शौचालय हमार" का नारा लगाते हुए ग्रामीणों को शौचालय का प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा, यह शौचालय नहीं है, प्रधानमंत्री ने इस नाम दिया है इज्जतघर क्योंकि यह हमारे मां बहनों को खुले में शौच करते समय जो समस्याएं होती है उस को ढंकता है।

कार्यक्रम के दौरान जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया कि प्रतिदिन इसके निर्माण की रिपोर्ट प्राप्त कर मुख्य विकास अधिकारी को अवगत कराएं और लक्ष्य के अनुसार शौचालय का निर्माण करा कर जनपद को खुले में शौच मुक्त घोषित कराएं। इस कार्यक्रम में सभी खंड विकास अधिकारी सभी सहायक विकास अधिकारी पंचायत डीपीसी एवं जनपद के सभी सचिव सफाई कर्मियों द्वारा जनपद के विभिन्न गांवों में हिस्सा लिया।

Share it
Share it
Share it
Top