एक लड़के ने अमेजन इंडिया को यूं लगाई 50 लाख रूपए की चपत, पुलिस ने किया गिरफ्तार 

एक लड़के ने अमेजन इंडिया को यूं लगाई 50 लाख रूपए की चपत, पुलिस ने किया गिरफ्तार फाइल फोटो 

लखनऊ। होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर चुका शिवम हर बार अलग नाम और पते के साथ अमेजन में फोन का ऑर्डर करता था और डिलीवरी मिलने के बाद कहता था कि उसे खाली डिब्बा मिला है। ऑनलाइन फ्रॉड का एक ऐसा मामला सामने आया है, दिल्ली के एक 21 वर्षीय युवक शिवम चोपड़ा ने ई-कॉमर्स वेबसाइट अमेजन इंडिया को धोखेबाजी कर 50 लाख रुपए का चूना लगा दिया।

ये भी पढ़ें-बंबई उच्च न्यायालय ने पूछा, क्या कानून पशु की शारीरिक संरचना बदल सकता है?

आंतरिक जांच में अपराध होने की जानकारी सामने आने के बाद अमेजन ने पुलिस में शिकायत की थी। इसके बाद पुलिस ने युवक को पिछले हफ्ते गिरफ्तार कर लिया। नई दुनिया के अनुसार इस तरह से शिवम चोपड़ा ने करीब 50 लाख रुपए की धोखाधड़ी कंपनी के साथ की है। इसकी शुरुआत शिवम ने मार्च से की थी। उसने सबसे पहले दो फोन का ऑर्डर किया और उसका रिफंड लेने में भी कामयाब रहा। इसके बाद उसने अप्रैल और मई में एप्पल, सैमसंग और वनप्लस स्मार्टफोन्स का ऑर्डर किया। उसने 225 मोबाइल का रिफंड क्लेम किया था और कंपनी ने उसे 166 फोन का रिफंड दिया।

रिफंड लेने के बाद शिवम इन फोन्स को ओएलएक्स या गफ्फार मार्केट में बेच देता था। उसके घर के पास ही रहने वाले एक टेलिकॉम स्टोर के मालिक सचिन जैन ने उसे 141 प्री-एक्टिवेटेड सिम 150 रुपए प्रति सिम के हिसाब बेची थी। इसी के जरिये वह अलग-अलग नाम से फोन ऑर्डर करता था और बाद में खाली डिब्बा आने का दावा करके फोन का रिफंड ले लेता था।

ये भी पढ़ें-डीजल, पेट्रोल जीएसटी से बाहर, “डंडी मारने’’ की कला

इस मामले में पुलिस ने सचिन जैन को भी गिरफ्तार किया है। डीसीपी (नॉर्थ-वेस्ट) मिलिंद डुंबरे ने बताया कि इस धोखाधड़ी को अंजान देने के लिए शिवम ने 141 सिम कार्ड और 50 ई-मेल आईडी का इस्तेमाल किया। शिवम ने अमेजन पर कई अकाउंट भी बनाए थे। मिलिंद ने बताया कि वह अमेजन डिलीवरी बॉय को हर बार गलत पता देता था और जब वो मोबाइल लेकर आता था तो उसे कैश पेमेंट भी करता। पुलिस ने उसके पास से 19 मोबाइल, 12 लाख रुपए नकद और 40 बैंक पासबुक को जब्त कर लिया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top