दुधवा से चार गैंडों का किया जाएगा पुनर्वास   

दुधवा से चार गैंडों का किया जाएगा पुनर्वास   प्रतीकात्मक फोटो 

लखीमपुर खीरी (भाषा)। दुधवा नेशनल पार्क में भारतीय गैंडे के पहले सफल पुनर्वास के 34 वर्ष बाद यह अभयारण्य चार और गैंडों को नया आशियाना देने को तैयार है।

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया, "दुधवा नेशनल पार्क में अप्रैल 1984 में पहले गैंडे का पुनर्वास शुरू किया गया था और दूसरे गैंडों का पुनर्वास भी अप्रैल से ही शुरू हो रहा है। वे गैंडे कल से पुनर्वास क्षेत्र (आरआरए) में लाये जाएंगे। दुधवा के उपनिदेशक महावीर कौजलगी ने बताया कि सोनारीपुर रेंज में रह रहे 33 गैंडों में से चार को मंगलवार और बुधवार को दो चरणों में भड़ी ताल क्षेत्र में स्थानान्तरित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- दुधवा नेशनल पार्क में बढ़ेगा हाथियों का कुनबा, कर्नाटक से लाए जा रहे 11 हाथी

यह नाजुक काम असम से आये विशेषज्ञों डॉक्टरों के. के. शर्मा, अमित शर्मा, दुधवा के निदेशक सुनील चैधरी और डब्ल्यूडब्ल्यूएफ तराई आर्क लैंडस्केप प्रभारी मुदित गुप्ता की निगरानी में होगा। उन्होंने बताया, दुधवा के 27 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले सोनारीपुर रेंज में गैंडों की आबादी करीब तीन दर्जन हो चुकी है, लिहाजा उनमें से कुछ को दूसरे स्थान पर भेजने की जरूरत लम्बे वक्त से महसूस की जा रही थी। मगर कुछ कारणों से इस कार्यक्रम को स्थगित किया गया है।

यह भी पढ़ें- दुधवा में अंतरराष्ट्रीय बर्ड फेस्टिवल शुरू, तस्वीरों में देखें झलकियां

Share it
Top