शशिकला का हाशिये पर जाना तय, एक हुआ एआईएडीमके , पन्नीरसेल्वम बने उप- मुख्यमंत्री 

शशिकला का हाशिये पर जाना तय, एक हुआ एआईएडीमके , पन्नीरसेल्वम बने उप- मुख्यमंत्री उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेते ओ पन्नीरसेल्वम 

लखनऊ। तमिलनाडु में सत्तारुढ़ ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) के दो गुटों का करीब छह महीने के बाद सोमवार को विलय हो गया, जिनमें से एक का नेतृत्व मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी और दूसरे का पूर्व मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम कर रहे थे। पन्नीरसेल्वम अब तमिलनाडु के उप मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले चुके हैं।

मुख्यमंत्री पलनीस्वामी ने पार्टी मुख्यालय में विलय की औपचारिक घोषणा की। विलय के ऐलान के बाद पलानीस्वामी ने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, ‘अब हम जल्द ही अपना चुनाव चिन्ह वापस लेंगे। हमारा लक्ष्य अम्मा और एमजीआर के सपने को पूरा करना है। विलय के लिए पन्नीरसेल्वम का धन्यवाद।’ वहीं ओ. पन्नीरसेल्वम ने कहा कि हमारी एक ही मां है, हमारी एक ही पार्टी है। हम एक परिवार हैं।

ये भी पढ़ें- अब छत्तीसगढ़ के अंबेडकर अस्पताल में ऑक्सीजन न मिलने से 3 बच्चों की मौत

वहीं, राजभवन से जारी एक बयान में कहा गया है कि उपमुख्यमंत्री के साथ पन्नीरसेल्वम को वित्त मंत्रालय का प्रभार सौंपा जाएगा। साथ ही पूर्व मंत्री के. पांडिराजन सरकार में तमिल आधिकारिक भाषा व तमिल संस्कृति मंत्री होंगे।

मुख्यमंत्री पलानीस्वामी और पन्नीरसेल्वम मरीना बीच पर स्थित जयललिता मेमोरियल पर पहुंचे। दोनों नेताओं ने यहां अम्मा को श्रद्धाजंलि दी।

बीते दिसंबर में तत्कालीन मुख्यमंत्री जे. जयललिता के निधन के बाद पार्टी दो धड़ों में बंट गई थी।
विलय के बाद पूर्व मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम एआईएडीएमके के समन्वयक और मौजूदा मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी संयुक्त समन्वयक बनाए गए हैं।
इस क्रम में पार्टी महासचिव वीके शशिकला को एआईएडीएमके से बर्खास्त करने का फैसला भी लिया गया है। यहां उल्लेखनीय है कि पन्नीरसेल्वम गुट ने विलय के लिए जो एक महत्वपूर्ण शर्त रखी थी, उनमें शशिकला और उनके परिवार के सदस्यों की पार्टी से बर्खास्तगी भी शामिल है।

Share it
Top