अजमेर दरगाह के दीवान ने पूरे देश में बीफ और गोहत्या बंद कराने की मांग 

अजमेर दरगाह के दीवान ने पूरे देश में बीफ और गोहत्या बंद कराने की मांग अजमेर दरगाह के आध्यात्मिक प्रमुख दीवान सैयद जैनुल आबेदीन अली खान।

अजमेर। राजस्थान स्थित अजमेर के सूफी संत हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती के वंशज व दरगाह के आध्यात्मिक प्रमुख दीवान सैयद जैनुल आबेदीन अली खान ने पूरे देश में बीफ और गोहत्या बंद कराने की मांग की है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करते हुए कहा है कि बीफ को लेकर दो समुदायों के बीच पनप रहे वैमनस्य को खत्म करने के लिए केंद्र सरकार को देशभर में गोवंश की सभी प्रजातियों के वध करने व इनका मांस बेचने पर प्रतिबंध लगाना चाहिए।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

यही नहीं मुस्लमानों को भी इनके वध से खुद को दूर रखकर इसके मांस के सेवन को त्यागने की पहल करनी चाहिए। उन्होंने यह बात अजमेर शरीफ से एक बयान जारी कर के कहा। यह बयान ऐसे समय जारी किया गया है, जब अजमेर में ख्वाजा साहब का 805वां सालाना उर्स चल रहा है। इसमें लाखों मुस्लिम अकीदतमंदों के साथ अन्य धर्मों के लोग भी शिरकत कर रहे है। ऐसे समय में देश दुनिया से आए मुस्लिम संप्रदाय के लोगों के बीच यह बयान काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

दीवान ने कहा 'जीवनभर नहीं खाऊंगा बीफ'

सैयद जैनुल ने कहा कि उनके पूर्वज ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती ने इस देश की संस्कृति को इस्लाम के नियमों के साथ अपना कर मुल्क में अमन शान्ति स्थापित करने समेत मानव सेवा के लिये जीवन को समर्पित किया था। इसी तहजीब को बचाने के लिए गरीब नवाज के 805वें उर्स के मौके पर मैं और मेरा परिवार बीफ के सेवन को त्यागने की घोषणा करता है। उन्होंने कहा हिन्दोस्तान के मुसलमानों से यह अपील करता हूं कि देश में सद्भावना को फिर से स्थापित करने के लिए वह भी इस त्याग को अपना कर मिसाल पेश करें।

तीन तलाक को भी बताया इस्लाम के खिलाफ

सैयद जैनुल ने अपने बयान में कहा है कि मुस्लिम धर्मगुरु का भी यही मत है कि तीन तलाक के उच्चारण को शरीयत ने नापसंद किया है। मुसलमान इस प्रक्रिया में शरीयत की नाफरमानी से बचें। उन्होंने कहा कि गोवंश को लेकर मुल्क में सैंकड़ों साल से जिस गंगा जमुनी तहजीब से हिन्दु और मुस्लमानों के मध्य मोहब्बत और भाईचारे का माहौल स्थापित था उसे ठेस पंहुची है।

गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की अपील

सैयद जैनुल ने गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की अपील भी की। उन्होंने कहा गाय सिर्फ एक जानवर नहीं है बल्कि हिंदुओं की आस्था का प्रतीक है। गाय व उसके वंश को बचाना चाहिए। साथ ही गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाना चाहिए। जिन राज्यों में कानूनन गौहत्या की जाती है वह भी सरासर गलत है। यह बंद होना चाहिए। गोहत्या पर उम्रकैद वाले गुजरात सरकार के फैसले की तारीफ भी की।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top