अब नहीं लगेंगे ‘जय बाबा बर्फानी’ के जयकारे, एनजीटी ने लगाई रोक

अब नहीं लगेंगे ‘जय बाबा बर्फानी’ के जयकारे, एनजीटी ने लगाई रोकसाभार: इंटरनेट।

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने पवित्र अमरनाथ गुफा में जयकारे और प्रसाद पर रोक लगा दी है। इस आदेश के बाद बाबा भोलेनाथ की पवित्र गुफा में धार्मिक रस्मों पर प्रतिबंध लगा दिया है। दर्शनार्थी अब न तो 'बम-बम भोले' के नारे और 'जय बाबा बर्फानी' के जयकारे नहीं लगा सकेंगे। वे गुफा में प्रसाद तक नहीं ले जे सकेंगे।

एनजीटी ने दक्षिण कश्मीर हिमालय में स्थित अमरनाथ गुफा श्राइन की पर्यावरण-संवेदनशीलता को बनाए रखने के लिए इसे ‘साइलेंस जोन’ घोषित कर दिया और प्रवेश बिंदु से आगे धार्मिक रस्मों पर रोक लगा दी। एनजीटी ने कहा कि गुफा श्राइन के आसपास ‘साइलेंस जोन’ घोषित होने से हिमस्खलन को रोकने में मदद मिलेगी और इसकी प्राचीन प्रकृति को बनाए रखा जा सकेगा।

ये भी पढ़ें- अमरनाथ श्राइन बोर्ड को एनजीटी की फटकार

एनजीटी का मानना है कि भक्तों के जयकारे और नारों से पर्यावरण को खतरा है। इससे हिमस्खलन होने की आशंका बनी रहती है। नए फरमान के बाद पवित्र गुफा में बाबा अमरनाथ के हिम शिवलिंग के दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालु भीतर मंत्रों का जाप भी नहीं कर सकेंगे। यही नहीं, वे अपने साथ मोबाइल फोन तक नहीं ले जा सकेंगे।

ये भी पढ़ें- अमरनाथ श्राइन बोर्ड को एनजीटी की फटकार

साइलेंस जोन होगी गुफा

एंट्री पॉइंट से आगे जयकारे और घंटियों पर रोक

सामान भी नहीं ले जा सकेंगे एंट्री पॉइंट से आगे

शिवलिंग के सामने लगी ग्रिल हटे, जिससे ठीक से दर्शन हों

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top