डीबीटी से सरकार ने बचाए 50,000 करोड़ रुपये : अमित शाह

डीबीटी से सरकार ने बचाए 50,000 करोड़ रुपये : अमित शाहअमित शाह।

नई दिल्ली (भाषा)। भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) कार्यक्रम के जरिये सरकार ने पिछले तीन साल में 50,000 करोड़ रुपये की बचत की है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के तहत 32 करोड़ जरुरतमंद लोगों को कोष का सीधे उनके बैंक खाते में हस्तांतरण किया गया।

शाह ने कहा कि आधार से संबद्ध डीबीटी योजना से खामियों को दूर करने में मदद मिली। बिचौलियों को समाप्त किया जा सका और छद्म लाभार्थियों को हटाया जा सका। शाह ने कहा कि 32 करोड़ लोगों को सीधे उनके बैंक खाते में सब्सिडी दी गई। इससे सरकार को पिछले तीन साल में 50,000 करोड़ रुपये की बचत हुई।

नरेंद्र मोदी सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए शाह ने कहा कि प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर संग्रहण में 20 प्रतिशत का जोरदार इजाफा हुआ है। यह स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे उल्लेखनीय वृद्धि है।

उन्होंने कहा, ‘‘आर्थिक मोर्चे पर भाजपा की अगुवाई वाली सरकार का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है। हम दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था हैं और महंगाई काफी हद तक काबू में है।''

ये भी पढ़ें : राधमोहन सिंह ने बताया कि कैसे 2022 तक दोगुनी होगी किसानों की आय

वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान सरकार की प्रमुख उपलब्धियों पर शाह ने कहा, ‘‘सबसे अधिक यूरिया उत्पादन, सबसे ज्यादा गैस कनेक्शनों का वितरण, रिकॉर्ड कोयला एवं बिजली उत्पादन, सबसे ज्यादा राष्ट्रीय राजमार्ग और सडकों का निर्माण, वाहन विनिर्माण और सबसे अधिक साफ्टवेयर निर्यात और विदेशी मुद्रा भंडार का सबसे उंचा स्तर।''

उनकी पार्टी भाजपा ने साल के दौरान अपना सबसे बड़ा राजनीतिक लाभ हासिल किया। उन्होंने कहा कि ब्याज दरों में उल्लेखनीय कमी आई है और 2015-16 में राजकोषीय घाटा 3.9 प्रतिशत पर कायम रहा है।
अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष

शाह ने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के कार्यकाल में 5.1 प्रतिशत की औद्योगिक वृद्धि और 4 प्रतिशत की कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर हासिल हुई। प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का प्रवाह भी 45 प्रतिशत बढ़ा। कुछ सुस्ती के बाद निर्यात भी बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि इसका नतीजा यह हुआ कि प्रति व्यक्ति आय 10,000 रुपये बढ़कर एक लाख रुपये के आंकड़े को पार कर 1.03 लाख रुपये पर पहुंच गई। वित्तीय बाजारों के बारे में शाह ने कहा कि सेंसेक्स और निफ्टी ने अपना रिकार्ड स्तर छुआ है।

ये भी पढ़ें : मोदी के ‘मन की बात’ संस्कृत उपशीर्षक के साथ

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के बारे में उन्होंने कहा कि हम इसपर आगे बढ़े हैं और इसका क्रियान्वयन जल्द होगा। अन्य प्रमुख पहलों पर शाह ने कहा कि उज्ज्वला योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे (बीपीएल) परिवारों की दो करोड़ महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन दिया गया। 2019 तक हमारा इसे पांच करोड़ पर पहुंचाने का लक्ष्य है।

विद्युतीकरण के बारे में उन्होंने कहा कि अंधेरे में डूबे 13,500 गाँवों को बिजली पहुंचा दी गई है। लक्ष्य 18,456 गाँवों को बिजली देने का है। शाह ने कहा कि बिजली उत्पादन 30 प्रतिशत बढ़ा है और 23 करोड़ एलईडी बल्ब लगाकर सरकार ने बिजली की खपत कम की है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 7.45 करोड़ उद्यमियों को बैंक रिण दिया गया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top