अमित शाह के बेटे जय शाह ने किया वेबसाइट ‘द वायर’ पर 100 करोड़ रुपए की मानहानि का मुकदमा

अमित शाह के बेटे जय शाह ने किया वेबसाइट ‘द वायर’ पर 100 करोड़ रुपए की मानहानि का मुकदमाजय शाह ने किया वेबसाइट पर मुकदमा।

लखनऊ। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की संपत्ति में बढ़ोत्तरी के मामले पर सवाल उठाने वाली 'द वायर' की रिपोर्ट को को भाजपा ने 'दुर्भावनापूर्ण और अपमानजनक' बताते हुए, समाचार वेबसाइट 'द वायर' के संपादकों और मालिकों के खिलाफ 100 करोड़ रुपये की आपराधिक मानहानि का मुकदमा दायर किया है। मामले की सुनवाई 11 अक्टूबर को होगी।

वेबसाइट का दावा है कि अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी का टर्नओवर मोदी सरकार आने के बाद 16000 गुना बढ़ी है। ये बात रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज़ में दाख़िल किए गए दस्तावेज़ों से सामने आई है।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने इस मामले पर सफाई देते हुए कहा था कि जय शाह की कंपनियां-टेम्पल एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड और कुसुम फिनसर्व- द्वारा किए गए सभी लेनदेन और लिए गए लोन पारदर्शी थे और लोन को ब्याज के साथ वापस अदा किया गया था।

गोयल ने कहा, "दुर्भावनापूर्ण तरीके से रिपोर्ट के जरिए हमारे नेता अमित शाह की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की जा रही है, जय शाह ने लेखक, संपादक और समाचार वेबसाइट के मालिकों के खिलाफ 100 करोड़ रुपये का आपराधिक और दीवानी मानहानि का मुकदमा दायर करने का निर्णय लिया है।"

ये भी पढ़ें:शाह के पुत्र की संपत्ति मामले को लेकर लालू, पिता-पुत्र ने ली चुटकी

गोयल ने कांग्रेस द्वारा लगाए गए आरोपों को भी खारिज करते हुए कहा, "मैं चाहता हूं कि कांग्रेस भी स्पष्ट करे कि यदि उनके पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है, तो उन्हें गांधी परिवार के लेन-देन से संबंधित न्यायमूर्ति ढींगरा आयोग की रपट को रोकने के लिए अदालत में नहीं जाना चाहिए।"

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के भूमि लेन-देन में कथित अनियमितताओं की जांच के लिए राज्य में सत्ता में आने के बाद, हरियाणा सरकार ने ढींगरा आयोग का गठन किया था। जय शाह की कंपनियों के लेनदेन के बारे में गोयल ने कहा कि शाह व्यावसायिक रूप से पूरी तरह जायज और कानून सम्मत कारोबार करते हैं, जो उनके बही-खातों और आयकर रिटर्न से स्पष्ट है। गोयल ने कहा कि सभी लेनदेन बैंकों के माध्यम से किए गए हैं।

ये भी पढ़ें:दाऊद इब्राहिम की ब्रिटेन में 42 हजार करोड़ की संपत्ति जब्त की गई

जय शाह ने भी दी सफाई

जय शाह ने भी अपनी सफाई में कहा था कि वेबसाइट ने अपनी स्टोरी में झूठ दिखाने की कोशिश की है, उनके प्रतिष्ठा को नीचा दिखाने की कोशिश की है। लोगों के मन में ऐसी छवि बनाने की कोशिश की गई है कि उनके व्यवसाय में सफलता उनके पिता की राजनीतिक हैसियत से मिली है।उन्होंने कहा, “मेरा व्यवसाय पूरी तरह से कानून का पालन करता है, जो मेरे टैक्स रिकार्ड और बैंक ट्रांजेक्शन से पता चलता है। किसी कॉपरेटिव बैंक से लोन नियम कानून के हिसाब से लिए गए।”

विपक्ष का हमला

द वायर की रिपोर्ट के आधार पर कांग्रेस ने अमित शाह को निशाने पर लिया। कांग्रेस नेता कबिल सिब्बल ने कहा कि ऐसा लगता है कि 2014 में सरकार बदलने के साथ अमित शाह के बेटे की किस्मत भी बदल गई है। कांग्रेस ने पूछा कि क्या पीएम मोदी इस मामले की जांच कराएंगे? राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट किया है, विकास से जय हो। विकास करवाने में बाप की 300 तो बेटे की 16,000 गुणा हिस्सेदारी रही। उन्होंने लिखा है, खबरदारउ कोई बोला तो उनके पास और समर्थित मीडिया है। लालू ने राहुल गांधी के ट्वीट को री्ट्वीट किया है, मोदीजी, जय शाह- जादा खा गया। आप चौकीदार थे या भागीदार? कुछ तो बोलिए।

ये भी पढ़ें:कार्ति चिदंबरम की एक करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त

ये भी पढ़ें:5 साल में 5 गुना बढ़ी नेताओं की संपत्ति, सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब

ये भी पढ़ें:प्रॉपर्टी खरीदने के लिए जरूरी होगा आधार, बेनामी संपत्ति पर लगेगी लगाम

Share it
Top