कश्मीरी युवकों को डीजीपी की नसीहत, मुठभेड़ के समय घरों में रहें, गोली नहीं जानती वो किसे लगेगी 

कश्मीरी युवकों को डीजीपी की नसीहत,  मुठभेड़ के समय घरों में रहें, गोली नहीं जानती वो किसे लगेगी एस पी वैद।

श्रीनगर (भाषा)। जम्मू कश्मीर पुलिस ने आज कहा कि कश्मीर घाटी में मुठभेड़ स्थलों पर सुरक्षा बलों पर पथराव करने के लिए जा कर युवा आत्महत्या कर रहे हैं और उसने उनसे इस प्रकार की गतिविधियों से दूर रहने की अपील की। पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुठभेड़ में सुरक्षा बल एवं पुलिस भी खुद को गोलियों से बचाने के लिए बुलेटप्रूफ वाहन या किसी मकान का सहारा लेती है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मुठभेड़ स्थलों पर जा कर युवा आत्महत्या कर रहे हैं।'' उन्होंने युवाओं से मुठभेड़ स्थलों पर नहीं आने की अपील करते हुए कहा कि घाटी में शांति के विरोधी तत्व अपने लघुकालीन राजनीतिक हितों को साधने के लिए उन्हें गुमराह कर रहे हैं और उनका दुरुपयोग कर रहे हैं। वैद ने कहा, ‘‘गोली नहीं जानती कि वह किसे लगेगी।

ये भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान प्रदर्शनकारियों का पथराव, सुरक्षाबलों की फायरिंग में एक की मौत, आठ घायल

मेरी युवकों से अपील है कि उन्हें अपने घरों में रहना चाहिए और मुठभेड़ स्थलों पर नहीं जाना चाहिए। युवाओं को यह समझना चाहिए कि लोग अपने लघुकालीन राजनीतिक हितों को साधने के लिए उनका इस्तेमाल कर रहे हैं।'' डीजीपी ने कहा कि दुश्मन तत्व युवाओं को भड़काने के लिए सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर रहे हैं ताकि वे आतंकवादियों को मुक्त कराने में मदद करने के लिए सुरक्षा बलों पर पथराव करें।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.