5 साल में 5 गुना बढ़ी नेताओं की संपत्ति, सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब

5 साल में 5 गुना बढ़ी नेताओं की संपत्ति, सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाबसुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार।

नई दिल्ली। कई ऐसे नेता हैं जिनकी पिछले 5 सालों में संपत्ति 5 गुना बढ़ गई है। सुप्रीम कोर्ट ने ऐसे नेताओं के खिलाफ कार्रवाई का खुलासा नहीं करने पर कड़ी आपत्ति जताई है। अदालत ने केंद्र सरकार को निर्देश दिया कि वह कोर्ट को बताए कि उसने ऐसे नेताओं के खिलाफ क्या कार्रवाई की है।

कोर्ट ने सरकार को यह भी निर्देश दिया कि वह अदालत के समक्ष इस संबंध में जरूरी सूचना रखे। उच्चतम न्यायालय ने कहा कि हालांकि सरकार कह रही है कि वह चुनाव सुधार के खिलाफ नहीं है। यदि ऐसा है तो वह पारदर्शिता क्यों नहीं बरतती और बताती कि धनवान नेताओं के खिलाफ अब तक क्या कार्रवाई की गई। कोर्ट ने कहा सरकार 12 सितंबर तक अदालत में यह जानकारी पेश करे।

यह भी पढ़ें : यूपी: शक्तिपुंज एक्सप्रेस की सात बोगियां पटरी से उतरीं

जस्टिस जे चेलमेश्वर और जस्टिस अब्दुल नजीर की पीठ ने कहा, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) की ओर से उसके समक्ष सौंपे गए हलफनामे में दी गई सूचना 'अधूरी' थी। क्या यह भारत सरकार का रुख है। आपने अब तक क्या किया यह साफ होना चाहिए।

सरकार की ओर से कोर्ट में कहा गया कि सीबीडीटी नियमानुसार इस मामले में स्वत: कार्रवाई कर ऐसे नेताओं को नोटिस भेजती है। इस कार्रवाई का पूरा विवरण मौजूद है, जिसे पेश कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री जी, 2022 तक कैसे बढ़ेगी किसानों की आमदनी ?, महत्वाकांक्षी सिंचाई योजना का हाल देखिए

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान उम्मीदवारों द्वारा आय के स्रोत का खुलासा करने की मांग करने वाली याचिका पर सुनवाई कर रही थी। इस संबंध में दलीलें अधूरी रहीं और गुरुवार को भी जारी रहेंगी।

सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई की 13 साल की रेप पीड़ित बच्ची का गर्भपात कराने की इजाजत दी

Share it
Top