Top

यहां प्राकृतिक दवाओं से होता है गंभीर रोगों का इलाज, देश के कोने-कोने से आते हैं मरीज

यहां प्राकृतिक दवाओं से होता है गंभीर रोगों का इलाज, देश के कोने-कोने से आते हैं मरीज25 साल से लोगों को इलाज कर रहे हैं पंडित बद्री प्रसाद अवस्थी

दीपक सिंह/रागिनी दुबे, कम्‍युनिटी जर्नलिस्‍ट

बाराबंकी (यूपी)। प्राकृतिक चिकित्सा का इतिहास बहुत पुराना है। इसका वर्णन पौराणिक ग्रन्थों एवं वेदों में मिलता है। अर्थात वैदिक काल के बाद पौराणिक काल में भी यह पद्धति प्रचलित थी। हम ऐसे ही एक शख्‍स के बारे में बताने जा रहे हैं जो 25 साल से लोगों का आयुर्वेदिक तरीके से इलाज कर रहा है।

यूपी के बाराबंकी जिले से करीब 50 किलोमीटर दूर त्रिवेदीगंज विकासखंड मुख्यालय से दक्षिण दिशा में ग्राम पंचायत त्रिलोकपुर के बीरमपुर गांव में एक ऐसे वैद्य रहते हैं। जो असाध्य रोगों का इलाज अपनी जड़ी बूटियों से करते हैं। उनका नाम वैद्य पंडित बद्री प्रसाद अवस्थी है।

बीरमपुर गांव निवासी 58 वर्षीय वैद्य पंडित बद्री प्रसाद बताते हैं, "मैं पिछले 25 वर्षों से लोगों का इलाज कर रहा हूं। हमारे पास असाध्य रोगों से पीड़ित लोग आते हैं, मैं उनका इलाज करता हूं और उनको लाभ होता है। यहां इलाज कराने वाले मरीज और लोगों को इसके बारे में बताते थे, जिसकी बदौलत मेरे पास देश के कोने-कोने से गंभीर रोगों से ग्रसित लोग इलाज के लिए आते हैं। मुझे यह ज्ञान गांव के बुजुर्गों के साथ ही आयुर्वेदिक ग्रंथों के अध्ययन से मिला है और मैं इस ज्ञान का भरपूर लाभ मरीजों को देने की कोशिश करता हूं।"

इसे भी पढ़ें- 300 की आबादी वाले गांव में 50 लोगों को पथरी, इलाज के लिए अपना रहे जानलेवा तरीके


वही उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद से बाराबंकी इलाज के लिए आए मोहम्मद सलीम बताते हैं, "मेरे पत्नी को लीवर में इंफेक्शन था, जिसका इलाज मैंने कानपुर नगर के नामी-गिरामी अस्पतालों में कराया लेकिन कोई लाभ नहीं मिला। एक साथी ने हमें वैद्य जी के बारे में बताया।

मैं बाराबंकी आकर वैद्य जी से अपनी पत्नी का इलाज कराया। यकीन मानिए बहुत ही अच्छा परिणाम मिला, आज मैं दूसरी बार अपनी पत्नी को लेकर यहां आया हूं साथ ही एक अन्य मरीज को भी इलाज के लिए लाया हूं।

वैद्य बद्री प्रसाद बताते हैं कि मेरे पास इलाज के लिए भारत ही नहीं बल्कि विदेशों से भी लोग आते हैं। 5 माह पूर्व रसिया देश से 50 वर्षीय महिला टाटिया जोकि ब्लड कैंसर से पीड़ित थी हमारे पास इलाज के लिए आई थी और हमने अपनी सबसे बेहतर जड़ी बूटियों का उपचार किया, जिसके बाद उन्हें लाभ मिला और उन्होंने दूरभाष पर हमें धन्यवाद दिया। यहां पर लोगों का इलाज भी सस्‍ता होता है।

ये भी पढ़ें: पेशाब से जुड़ी समस्याएं और वो 30 हर्बल नुस्ख़े जो दिला सकते हैं इनसे छुटकारा


वहीं उन्‍नाव से कुमार यादव बताते हैं कि उन्‍हें पीठ दर्द से बहुत परेशानी थी। उन्‍होंने इसका इलाज लखनऊ से दिल्‍ली तक इलाज करवाया लेकिन कोई इलाज काम नहीं आया। किसी दोस्‍त ने बताया कि बाराबंकी में एक वैद्य हैं जो हर प्रकार की बीमारी का इलाज करते हैं। हम हर जगह इलाज कराकर थक गए थे तो सोचा यहां भी इलाज कर देखते हैं।

उन्‍होंने बताया कि जब मैं यहां आया तो इन्‍होंने 20 रुपए फीस लेकर दो महीने की दवाई दी। इससे मुझे बहुत आराम मिले। इसके बाद से मैं अपने सारे रिश्‍तेदारों और दोस्‍तों को इलाज के लिए यहीं लेकर आता हूं।

(इनकी दवाओं पर कोई वैज्ञानिक रिसर्च हुआ है या नहीं, इसकी कोई जानकारी गांव कनेक्‍शन को नहीं है।)

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.