पढ़िए आज पूरे दिन में BHU में क्या-क्या हुआ

पढ़िए आज पूरे दिन में BHU में क्या-क्या हुआकैंपस को दो अक्टूबर तक बंद कर दिया गया है।

लखनऊ। बनारस के बीएचयू में छात्रा के साथ हुई छेड़खानी के मामले ने शनिवार को उस समय और तूल पकड़ लिया जब सुरक्षा को लेकर छात्राओं द्वारा किये जा रहे आंदोलन ने हिंसक रूप ले लिया। पुलिस के लाठीचार्ज में कई छात्र-छात्राओं, डीएम और पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, जिसके बाद परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें : ‘हम लड़कियों को कभी ना कभी रास्ता चलते यहां - वहां हाथ तो मार ही जाता है’

रविवार सुबह से बीएचयू आंदोलन से जुड़ी कई जानकारियां सामने आ रही हैं। छात्राओं का कहना है कि कुछ अराजक तत्व शामिल होकर हमारे आंदोलन को मुख्य मुद्दे से अलग कर रहे हैं। छात्राओं ने यह भी बताया कि ये देखकर वे दंग रह गईं कि जिन लड़कों ने छेड़खानी की थी वही लोग आंदोलन में आकर महिला सशक्तीकरण की बात कर रहे थे। इसके बाद बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के वीसी प्रो. जीसी त्रिपाठी ने शाम पांच बजे तक हॉस्टल खाली करने का फरमान जारी किया, जिसके बाद सभी छात्राओं ने हॉस्टल खाली कर दिया है। कैंपस को दो अक्टूबर तक बंद कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें : बीएचयू छात्राओं ने खाली किया हॉस्टल, बयां किया अपना दर्द

इसके बाद बीएचयू सर्वदलीय मार्च में शामिल होने पहुंचे यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर को पुलिस ने रास्ते में रोक ‌लिया। वहीं प्रेम प्रकाश आई.जी. रेंज बनारस ने गाँव कनेक्शन को बताया कि मालवीय चौराहे के पास राज बब्बर और पी एल पुनिया को कस्टडी में लिया गया है। इधर, बीएचयू के बिड़ला छात्रावास से 16 छात्रों को गिरफ्तार किया गया।

ये भी पढ़ें : बीएचयू विवाद : “कुर्ते में हाथ डाला था, कोई कहां तक बर्दाश्त करे”

Share it
Share it
Share it
Top