स्‍कूल नहीं जा रही उन्‍नाव रेप पर पुलिस से सवाल पूछने वाली लड़की, पिता ने बताई ये वजह

Ranvijay SinghRanvijay Singh   2 Aug 2019 9:30 AM GMT

स्‍कूल नहीं जा रही उन्‍नाव रेप पर पुलिस से सवाल पूछने वाली लड़की, पिता ने बताई ये वजह

लखनऊ। उन्‍नाव रेप मामले को लेकर बाराबंकी के एक स्कूल की छात्रा ने यूपी पुलिस से सवाल पूछा था। यह वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद अब यह छात्रा स्‍कूल नहीं जा पा रही है। छात्रा के पिता से गांव कनेक्‍शन ने संपर्क किया तो उन्‍होंने इसके पीछे की वजह बताई।

छात्रा मुनीबा के पिता राशिद किदवई कहते हैं, ''लड़की ने नादानी कर दी। उसे बरगला के कहलवा दिया गया।'' इस सवाल पर कि लड़की ने तो वाजिब सवाल उठाया था? राशिद कहते हैं- ''आपके नजरिए से सही होगा, हमारे नजरिए से सही नहीं है। आप अपने नजरिए से देख रहे हैं, मैं अपने नजरिए से, फर्क है देखने का।''

राशिद बताते हैं, ''इसे बच्‍चों ने चढ़ा दिया और ये बोल गई। जो हो रहा सब देख रहे हैं, इसमें हम आवाज उठाने वाले कौन होते हैं? इसे सरकार को देखना है, कानून को देखना है, हम थोड़े न देखेंगे कि किसने क्‍यों किया, के कौन दोषी है, इसका फैसला हम थोड़े न कर सकते हैं।''

''वो बता रही है कि उसको बच्‍चों ने चढ़ा दिया, उसे यह नहीं पता था कि यह मामला इतना हाईलाइट हो जाएगा। हम उसे स्‍कूल नहीं भेज रहे, एक हफ्ते बाद भेजेंगे, जब थोड़ा मामला ठंडा होगा। मैंने तो प्रिंसिपल से भी कह दिया है कि दोबारा कोई चैनल वाला या कोई मेरी बेटी से बात करने आता है तो मैं केस कर दूंगा आप लोगों पर। क्‍योंकि मेरी बेटी है नाबालिग, उसे बरगला के आप लोग कुछ भी कहवा देंगे और बाद में मुसिबत मेरे लिए होगी।''

राशिद कहते हैं, ''मीडिया वाले भी स्‍कूल पर खड़े हैं। तो हम क्‍यों भेजें कि आ बैल मुझे मार। मीडिया वाले कह रहे हैं कि हमें अपने चैनल के लिए बयान चाहिए, कोई अपने चैनल के लिए वीडियो मांग रहा है। क्‍या है ये? कोई नेता तो है नहीं वो। इस वीडियो के आने के बाद मुझे बिसियों फोन आए हैं। मैंने सबको मना कर दिया कि कोई इंटरव्‍यू नहीं होगा, उसने जो बचपना किया है वो कर दिया, बाकी आगे से कुछ नहीं। हमको किसी से शिकायत नहीं है।''

राशिद कहते हैं, ''हमको किसी पार्टी, न सरकार से, न पुलिस से, किसी से शिकायत नहीं है। जो गलती करता है पुलिस का काम है उसे देखना और दोषी है तो कानून सजा दे। हम थोड़े न हैं सजा देना वाले। रोज इतने केस होते हैं, किसका जवाब किसने दिया है। हम स्‍कूल में कह देंगे कि कोई इंटरव्‍यू कराते हैं तो मैं आपके खिलाफ केस कर दूंगा।''

छात्रा ने क्‍या सवाल पूछा था?

बाराबंकी के आनंद भवन विद्यालय में आयोजित बालिका सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम में अपर पुलिस अधीक्षक (उत्तर) आर एस गौतम छात्राओं को सुरक्षा के प्रति सचेत करते हुए टोल फ्री नंबरों की जानकारी दे रहे थे। तभी एक छात्रा ने उनसे यह सवाल पूछ दिया।

छात्रा ने सवाल किया, ''आपके कहने के मुताबिक अगर हमारे साथ कुछ गलत हुआ तो हम टोल फ्री नंबर पर फोन करके पुलिस को जानकारी दें। लेकिन, हम जिसकी शिकायत कर रहे हैं अगर उसे इस बात का पता चल गया और उसने मेरा एक्सीडेंट करा दिया, तो क्या होगा?''

छात्रा ने कहा, ''पुलिस मेरी कैसे मदद करेगी? क्या विरोध करने पर मुझे न्याय मिलेगा? क्योंकि उन्नाव में एक लड़की के साथ एक विधायक ने गलत काम किया और अब जब वह उसके खिलाफ लड़ाई लड़ रही है, तो उसका एक्सीडेंट करा दिया गया। जिससे अब वह जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही है।''

हालांकि, छात्रा के सवाल का पुलिस अधिकारी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। उन्होंने महज यह कहा कि टोल फ्री नंबर पर फोन करने वाली हर शिकायतकर्ता की पूरी मदद की जाएगी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top