केरल के बाद अब यहां के 50 छात्रों ने मनाया बीफ फेस्टिवल

केरल के बाद अब यहां  के 50 छात्रों ने मनाया बीफ फेस्टिवलबीफ पार्टी के आयोजन की तस्वीर। (फोटो-ANI से)

तमिलनाडु। केरल के बाद अब इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) मद्रास में बीफ फेस्ट आयोजित किये जाने का मामला सामने आया है। छात्रों ने केंद्र सरकार के पशुबाजार में कत्ल के लिए जानवरों की खरीद-बिक्री के विरोध में ये फेस्टिवल आयोजित किया।

ये भी पढ़ें- गाय अब जीविका नहीं राजनीति का मुद्दा है, देश के अलग-अलग कोने की तस्वीर

केरल में यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीफ फेस्टिवल पर मचे घमासान के बीच तमिलनाडु से एक और ऐसी ही खबर आ रही है। रविवार को आईआईटी मद्रास के कैंपस में बीफ फेस्ट का आयोजन किया गया। इसमें करीब 50 छात्रों ने हिस्सा लिया। केंद्र सरकार के बूचड़खानों के लिए पशुओं की बिक्री पर रोक लगाने के फैसले के विरोध में ऐसे आयोजन किए जा रहे हैं. लोगों का मानना है कि यह अप्रत्यक्ष रूप से सरकार ‘बीफ बैन’ ही कर रही है।

इससे पहले केरल के कन्नूर में बीफ फेस्ट के आयोजन का वीडियो सामने आया था। कन्नूर पुलिस ने युवा कांग्रेस के अध्यक्ष समेत कई कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज किया। पार्टी ने भी इन कार्यकर्ताओं से पल्ला झाड़ते हुए सस्पेंड कर दिया। कांग्रेस उपाध्यक्ष समेत कई लोगों ने इसकी आलोचना की है।

ये भी पढ़ें: ग्लोबलाइजेशन के इस युग में गाय , गाँव , गँगा से ही उम्मीदें

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने केंद्र सरकार के इस फैसले पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि ये सही नहीं है कि सरकार लोगों के खाने की चीजें भी तय कर रही है। इस फैसले के साथ सरकार उस सेक्टर को तबाह कर रही है, जो हजारों लोगों को रोजगार देता है। सरकार को नोटिफिकेशन जारी करने से पहले राज्यों के साथ बैठकर इस पर सलाह करनी चाहिए थी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top